जहां कभी बीता था बचपन, अब सुशांत सिंह राजपूत का वह घर बनेगा मेमोरियल जानिए

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने 14 जून को फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी. अभी तक लोग सुशांत की मौत के सदमे से उबर नहीं पाए हैं. सुशांत के निधन के 12 दिन बाद उनके परिवार की तरफ से आधिकारिक बयान जारी किया गया है. सुशांत के परिवार वाले उन्हें गुलशन कहकर बुलाते थे.

उनके परिवार की तरफ से कहा गया- सुशांत बहुत समझदार थे, वह हर बात जानना चाहते थे, उन्होंने बिना रुकावट के सपने देखे और उन्हें पूरा भी किया. हमें उन पर बहुत गर्व था. उनका टेलीस्कोप उनके लिए सबसे जरूरी था. वह अपने हर फैन को बहुत महत्व देते थे.

बता दें कि सुशांत के परिवार वालों ने यह भी बताया कि उनके पटना स्थित घर को मेमोरियल में तब्दील किया जाएगा, जहां सुशांत से जुड़ी चीजों को रखा जाएगा. इनमें सुशांत की किताबें, उनका टेलीस्कोप, फ्लाइट सिम्युलेटर जैसी चीजें शामिल होंगी. सुशांत के परिवार की तरफ से यह भी बताया गया कि उन्होंने सुशांत सिंह राजपूत फाउंडेशन की स्थापना करने का निर्णय किया है. यह फाउंडेशन सिनेमा, साइंस और स्पोर्ट्स से जुड़े यंग टैलेंट को सपोर्ट करेगी.

सुशांत के परिवार वालों ने यह भी कहा कि हमें अभी भी यकीन नहीं हो रहा कि हम फिर से उसकी हंसी नहीं सुन पाएंगे, हम उसकी चमकती हुई आंखें फिर नहीं देख पाएंगे, हम विज्ञान से जुड़ी उसकी बातें फिर से नहीं सुन सकेंगे. उसके जाने से परिवार में एक ऐसी कमी आई है जो कभी पूरी नहीं हो पाएगी.बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने 14 जून को फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी. अभी तक लोग सुशांत की मौत के सदमे से उबर नहीं पाए हैं. सुशांत के निधन के 12 दिन बाद उनके परिवार की तरफ से आधिकारिक बयान जारी किया गया है. सुशांत के परिवार वाले उन्हें गुलशन कहकर बुलाते थे.

उनके परिवार की तरफ से कहा गया- सुशांत बहुत समझदार थे, वह हर बात जानना चाहते थे, उन्होंने बिना रुकावट के सपने देखे और उन्हें पूरा भी किया. हमें उन पर बहुत गर्व था. उनका टेलीस्कोप उनके लिए सबसे जरूरी था. वह अपने हर फैन को बहुत महत्व देते थे.

बता दें कि सुशांत के परिवार वालों ने यह भी बताया कि उनके पटना स्थित घर को मेमोरियल में तब्दील किया जाएगा, जहां सुशांत से जुड़ी चीजों को रखा जाएगा. इनमें सुशांत की किताबें, उनका टेलीस्कोप, फ्लाइट सिम्युलेटर जैसी चीजें शामिल होंगी. सुशांत के परिवार की तरफ से यह भी बताया गया कि उन्होंने सुशांत सिंह राजपूत फाउंडेशन की स्थापना करने का निर्णय किया है.

यह फाउंडेशन सिनेमा, साइंस और स्पोर्ट्स से जुड़े यंग टैलेंट को सपोर्ट करेगी.सुशांत के परिवार वालों ने यह भी कहा कि हमें अभी भी यकीन नहीं हो रहा कि हम फिर से उसकी हंसी नहीं सुन पाएंगे, हम उसकी चमकती हुई आंखें फिर नहीं देख पाएंगे, हम विज्ञान से जुड़ी उसकी बातें फिर से नहीं सुन सकेंगे. उसके जाने से परिवार में एक ऐसी कमी आई है जो कभी पूरी नहीं हो पाएगी.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Translate »
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x