वृद्धावस्था में दिमाग को तेज रखने के तरीके

अच्छी याददाश्त के लिए अच्छी नींद बहुत जरूरी है। यदि आपको या आपके परिवार को चीजों को याद रखने में परेशानी हो रही है, तो इसका एक कारण पर्याप्त नींद की कमी है। यह सच है कि बुजुर्गों को पूरी रात ठीक से न सोने की समस्या है, लेकिन यह इतना सामान्य नहीं है कि आप इसे अनदेखा कर दें। अच्छी नींद के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है। चूंकि बेडरूम गहरे और शांत हैं, इसलिए बिस्तर भी आरामदायक होना चाहिए।

तनाव आपकी याददाश्त को भी बुरी तरह प्रभावित करता है। जब आप अनावश्यक रूप से तनाव में रहते हैं तो चीजों को याद रखना मुश्किल होता है। इसके लिए अनावश्यक रूप से खुद को उलझाएं नहीं। एक समय में एक काम करें और ब्रेक लेते रहें। अपनी भावनाओं को छिपाएं नहीं बल्कि उन्हें खुलकर व्यक्त करें।

बहुत अधिक चीनी खाने से कई स्वास्थ्य समस्याओं और पुरानी बीमारियों से जुड़ा हुआ है। साथ ही, यह स्वास्थ्य में लगातार गिरावट को दर्शाता है। शोध से पता चला है कि चीनी से भरपूर आहार से खराब याददाश्त और दिमागी कामकाज में कमी आ सकती है। आहार से चीनी हटाने से न केवल आपकी याददाश्त में मदद मिलती है बल्कि आपके संपूर्ण स्वास्थ्य में भी सुधार होता है।

पर्याप्त नींद का अभाव भी खराब याददाश्त से जुड़ा होता है। नींद आपकी याददाश्त को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। पर्याप्त नींद लेने से अल्पकालिक यादें मजबूत होती हैं और उन्हें लंबे समय तक चलने वाली यादों में बदल देती हैं। एक अध्ययन से पता चलता है कि अगर आप नींद से वंचित हैं, तो आप अपनी याददाश्त को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकते हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञ सलाह देते हैं कि उचित स्वास्थ्य के लिए वयस्क लोगों को सात से नौ घंटे की नींद की आवश्यकता होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »