मानसून की बीमारियों से लेकर बहुत सी समस्याओं से बचाती है तुलसी, जाने इसके और फायदे

तुलसी हमारे स्वास्थ्य के लिए कितनी लाभदायक है। इस बारे में सभी जानते ही हैं। मानसून के मौसम में भी यह हमें कई प्रकार की बीमारियों से बचाती है। आपको बता दें की तुलसी 2 प्रकार की होती है एक श्यामा तुलसी जिसको काली तुलसी भी बोला जाता है और दूसरी सफ़ेद तुलसी को सभी स्थान पर सामान्यतः पाई जाती है। वैसे तो दोनों ही प्रकार की तुलसी मानव के स्वास्थ्य के लिए लाभकारी हैं लेकिन श्यामा तुलसी को अधिक फायदेमंद माना जाता है। तुलसी में एंटी कैंसर प्रॉपर्टीज पाई जाती हैं। यदि आपको मानसून में स्किन की कोई समस्या होती है तो आप तुलसी का तेल लगा सकती हैं। यह स्किन की समस्याओं में बहुत लाभदायक होता है तो आइये अब जानते हैं तुलसी के लाभ।

तुलसी के लाभ –

तनाव और डिप्रेशन से दूर रखता है तुलसी रस –

आपको सबसे पहले बता दें की हालही में हुए शोध में पता लगा है की टीवी की दवाई से अधिक मात्रा में एंटी बैक्टीरियल कम्पाउंड तुलसी में पाया जाता है। यदि आप तुलसी के रस का सेवन नियमित तौर पर करती हैं तो वह आपके तनाव और डिप्रेशन के स्तर को कम रखने में सहायक होता है। इसके अलावा तुलसी का नियमित सेवन मलेरिया के संक्रमण को भी रोकता है। यदि आप 10 मि.ली तुलसी रस के साथ 20 ग्राम शहद का प्रतिदिन खाली पेट सेवन करती हैं तो इससे मुंह की बदबू, माइग्रेन, आमाशय और आतों की सभी समस्याएं, फेफड़े का कैंसर, सिरदर्द, जुकाम, वायरल बुखार, निमोनिया आदि समस्याएं आसानी से ख़त्म हो जाती हैं।

मानसून में तुलसी के लाभ –

मानसून के मौसम में भी तुलसी आपको बहुत सी बीमारियों से दूर रखती है। इसके अलावा बहुत से लोग मानसून के मौसम में तुलसी की चाय बना कर पीते हैं। तुलसी की चाय मानसून में बहुत लाभ करती है। इसके कुछ फायदे हम आपको यहां बता रहें हैं। आपको बता दें की यदि आप मानसुंमेँ तुलसी की चाय का सेवन करते हैं तो यह आपको तनाव तथा टेंशन से दूर रखती है। इसके सेवन से आपकी पाचन क्रिया सही रहती है तथा आपको कभी कब्ज की समस्या नहीं होती है। यह आपके कोलेस्ट्रॉल लेवल तथा बजन को कम करती है साथ ही दिल से जुड़ी समस्याओं को भी पैदा नहीं होने देती है। इसके अलावा तुलसी की चाय का सेवन ब्रेस्ट कैंसर और प्रो स्टेट कैंसर से भी महिलाओं को बचाता है। ये तुलसी के लाभ जानकर अब आप इसका उपयोग करना अवश्य शुरू करें तथा खुद को स्वस्थ रखें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »