इस भारतीय गेंदबाज ने लगातार 2 वर्ल्ड कप में पाक को चटाई थी धूल

भारतीय तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद का 1996 वर्ल्ड कप में सोहेल का विकेट लेना कोई नहीं भूल सकता. कुछ ऐसा ही गजब का कारनामा उन्होंने 1999 वर्ल्ड कप में भी किया था.

क्रिकेट वर्ल्ड कप चल रहा हो तो जिस एक मैच पर पूरी दुनिया की निगाहें टिकी रहती हैं, वो भारत और पाकिस्तान के बीच खेले जाने वाला मुकाबला होता है. ये वो मैच होता है, जिसका रोमांच वर्ल्ड कप फाइनल से भी ज्यादा रहता है. कारण होता है, इस मैच में दोनों देशों के बीच जीत-हार से भी ज्यादा दांव पर लगने वाली एक-दूसरे की इज्जत. अब ऐसे मुकाबले में यदि कोई एक गेंदबाज लगातार 2 वर्ल्ड कप में विपक्षी टीम पर भारी पड़ जाए तो उसे मिलने वाले सम्मान की कल्पना कीजिए. टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद (Venkatesh Prasad) ने पाकिस्तानी टीम को लगातार 2 वर्ल्ड कप में अपनी गेंदों से धूल चाटने को मजबूर किया था.

भारत-पाकिस्तान के बीच वर्ल्ड कप मैचों का जिक्र होगा तो 1992 में जावेद मियांदाद (Javed Miandad) का किरण मोरे (Kiran More) को मेंढक की तरह उछल उछलकर चिढ़ाना और 1996 वर्ल्ड कप में आमिर सोहेल (Amir Sohail) को बाउंड्री के बाद किए गए इशारे का उन्हें अगली ही गेंद पर बोल्ड आउट करके वेंकटेश प्रसाद की तरफ से दिया गया जवाब कभी कोई नहीं भूलेगा. सोहेल को बोल्ड आउट करने के नजारे को तो भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli)ने भी हाल ही में एक इंटरव्यू में अपनी जिंदगी का कभी न भूलने वाला नजारा बताया था.

प्रसाद ने 1996 वर्ल्ड कप का पाकिस्तान के खिलाफ बंगलूरू में खेले गए उस क्वार्टर फाइनल मैच को सोहेल समेत 3 अहम विकेट चटकाकर जिताया था. भारत की तरफ से दिए गए 288 रन के लक्ष्य के खिलाफ पाकिस्तान 1 विकेट पर 113 रन बना चुका था. लेकिन प्रसाद ने अगले 19 रन में सोहेल, एजाज अहमद (Ijaz Ahmed) और इंजमाम उल हक ( Inzamam-Ul-Haq) जैसे दिग्गजों को वापस लौटाकर पाकिस्तान की ऐसी कमर तोड़ी की वो आखिर में 9 विकेट पर 248 रन ही बना पाया था. प्रसाद ने 45 रन देकर 3 विकेट चटकाए थे.

प्रसाद ने इसके बाद 1999 वर्ल्ड कप में भी पाकिस्तान को अकेले दम पर धूल चटाई थी. मैनचेस्टर के मैदान पर 8 जून को खेले गए उस मैच में भारत ने राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) के 61 रन और कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन (Mohammad Azharuddin) के 59 रन की मदद से 50 ओवर में 6 विकेट पर 227 रन का मामूली सा स्कोर बनाया था. लेकिन वेंकटेश प्रसाद ने 27 रन पर 5 विकेट चटकाकर पाकिस्तान को 45.3 ओवर में महज 180 रन पर ही ढेर कर दिया था. ये वनडे क्रिकेट में प्रसाद का करियर बेस्ट प्रदर्शन भी रहा है.

वेंकटेश प्रसाद ने अपने इंटरनेशनल करियर में टीम इंडिया के लिए 33 टेस्ट मैच में 96 विकेट लिए, जिसमें दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ कोलकाता के इडेन गार्डन स्टेडियम में 1996 में लिए गए 153 रन पर 10 विकेट उनका बेस्ट प्रदर्शन था. इसके अलावा 161 वनडे मैचों में उन्होंने 196 विकेट चटकाए. प्रसाद और जवागल श्रीनाथ (Javagal Srinath) की जोड़ी को अपने समय में वर्ल्ड की बेस्ट तेज गेंदबाज जोड़ियों में गिना जाता था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »