इन तरीकों से बनेगी आपको जबरदस्त बॉडी, हर रोज करे इस चीज का सेवन

पोस्ट वर्कआउट मील में सभी पोषण का समावेश होना चाहिए। जैसे कि, उसमें शारीरिक मसल्स की रिकवरी और ग्रोथ के लिए प्रोटीन, कार्ब्स और हेल्दी फैट्स होने चाहिए। आइए, जानते हैं कि इन पोषण को पोस्ट वर्कआउट मील में क्यों शामिल करना चाहिए और इनसे क्या मदद मिलती है।

अगर आप वर्कआउट के तुरंत 30 मिनट के भीतर अपने शारीरिक भार के प्रति किलोग्राम पर 1.5 ग्राम तक कार्ब्स का सेवन करते हैं, तो ग्लाइकोजन का स्तर दोबारा पर्याप्त हो जाता है। लेकिन, इसके साथ प्रोटीन का सेवन करके ऊर्जा संग्रहण की प्रक्रिया को और ज्यादा बेहतर बना सकते हैं।

वर्कआउट में शामिल एक्सरसाइज की इंटेंसिटी के मुताबिक मसल्स प्रोटीन ब्रेकडाउन होता है। लेकिन, वर्कआउट के बाद प्रोटीन की पर्याप्त मात्रा का सेवन करने से आपके शरीर को अमिनोएसिड मिलते हैं। जो कि मसल्स की रिपेयरिंग और शरीर में हुए मसल्स के प्रोटीन ब्रेकडाउन की भरपाई करते हैं। इसके अलावा, प्रोटीन नए मसल्स टिश्यू के निर्माण में मदद करते हैं और आपको बेहतर और दमदार मसल्स प्राप्त होती हैं।

पोस्ट वर्कआउट मील का सबसे अहम उद्देश्य शरीर को जरूरी पोषण देना होना चाहिए। मतलब है कि पोस्ट वर्कआउट मील में प्रोटीन, कार्ब्स व अन्य जरूरी मिनरल शामिल होने चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *