यह दुनिया के 4 ऐसे मंदिर जहां की जाती है राक्षसों की पूजा, जानिए इसके बारे में रहस्य

प्राचीन मंदिर भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में पाए जाते हैं | लेकिन क्या आपको मालूम है कि भारत में कई ऐसे धर्मस्थल हैं जहां देवताओं की नहीं बल्कि दैत्यों की पूजा की जाती है | आइये जानते हैं कुछ ऐसे ही मंदिरों के बारे में |

1: उत्तर प्रदेश के झांसी शहर में एक ऐसा मंदिर है जहां बजरंगबली के साथ ही अहिरावन की भी आराधना की जाती है | रामायण में अहिरावन ने राम और लक्ष्मण का अपहरण भी किया था किन्तु यहाँ के लोग अज्ञात बाधाओं से मुक्ति के लिए इनकी पूजा करते हैं |

2: उत्तरप्रदेश के कानपुर शहर में शिवाला नाम के स्थान है जहां रावण का मंदिर स्थित है | इसका निर्णाण सन 1890 में किया गया था | ऐसा माना जाता है कि रावण एक महाज्ञानी था, इसी कारण यहाँ रावण को सम्मान दिया जाता है | यह मंदिर केवल दशहरा के त्यौहार में खोला जाता है बाकी पूरे वर्ष इसके कपाट बंद रहते हैं |

3: महाभारत में दुर्योधन को एक खलनायक के रूप में दर्शाया गया है लेकिन उत्तराखंड के नेटावर में दुर्योधन का एक भव्य मंदिर स्थित है जहां उसकी पूजा बड़े विधि विधान से की जाती है | ऐसा माना जाता है कि दुर्योधन ने यहाँ के निवासियों की बड़ी सहायता की थी, इसी कारण उन्हें आज भी यहाँ पर सम्मान दिया जाता है |

4: कंस के आदेश पर बाल गोपाल कृष्ण को दूध पिलाकर मारने का प्रयास करने वालो राक्षसी पूतना का मंदिर गोकुल में स्थित है | यहाँ पर पूतना की प्रतिमा भी है | पूतना की इसलिए पूजा की जाती है क्योंकि उन्होंने माता के रूप में भगवान कृष्ण को दूध पिलाया था |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »