भारत के तिरंगे से मिलते-जुलते हैं इन देशों के राष्ट्रीय ध्वज

तिरंगे को देखते ही हमारे अन्दर एक अलग ही जोश और जज्बा भर जाता है। देशभक्ति उमड़-उमड़ कर बाहर आने लगती है। हमारे देश के जवान तो तिरंगे की लिए हंसते-हंसते अपनी जान तक कुर्बान कर देते हैं। आज फेसबुक और वॉट्सएप्प का जमाना है। लोग सोशल मीडिया पर किसी को स्वतंत्रता दिवस या रिपब्लिक डे की बधाई देते हैं तो मैसेज के साथ में तिरंगा झंडा जरूर लगाते हैं।

लेकिन ज्यादातर लोग जल्दी-जल्दी में भारत के तिरंगे की जगह नाइजर के तिरंगे को मैसेज में डाल देते हैं। चौंक गए न ये सुनकर। लेकिन ये सच है बहुत सारे लोग ऐसी गलती करते हैं। असल में कसूर उनका भी नहीं है। दरअसल वॉट्सएप्प के इमोजी सेक्शन में झंडे का आइकॉन इतना छोटा होता है कि पता ही नहीं चलता कि वो भारत का झंडा है या नाइजर का।

इसके अलावा नाइजर का झंडा भारत के तिरंगे से इतना मिलता जूलता है कि कोई भी कन्फ्यूज हो जाएगा। लेकिन सिर्फ नाइजर ही नहीं बल्कि कई देशों के झंडे हमारे तिरंगे से मिलते-जूलते हैं। आज हम आपको ऐसे ही कुछ देशों के राष्ट्रीय ध्वज के बारे में बताएंगे जो थोड़े-बहुत या हूबहू हमारे तिरंगे जैसे दिखते हैं और साथ में उन ध्वजों में प्रयोग किए गए रंगों का मतलब भी बताएंगे।

1) नाइजर (Niger)

नाइज़र का झंडा देखकर तो आप समझ ही गए होंगे कि वॉट्सएप्प पर ज्यादातर लोग भारतीय तिरंगे की जगह इसे क्यों लगा देते हैं। दरअसल नाइजर और भारत के तिरंगे में कई समानता है। जैसे कि हमारे देश की ही तरह नाइज़र के झंडे में भी तीन रंग हैं। यहां तक कि वहां के झंडे में पहला रंग ऑरेंज है, दूसरा रंग सफेद और तीसरा रंग हरा है और सफेद पट्टी पर बीचों-बीच केसरिया रंग का सर्कल है।

जिस तरह हमारे तिरंगे का हर रंग किसी न किसी चीज को दर्शाता है उसी तरह नाइजर के तिरंगे का प्रत्येक रंग भी किसी न किसी चीज को रिप्रजेँट करता है। नाइज़र ने इस तिरंगे को 1959 में अपना राष्ट्रीय ध्वज बनाया था। इसके तिरंगे की पहली पट्टी का ऑरेंज रंग उत्तर में मौजूद सहारा रेगिस्तान का प्रतीक है। दूसरी पट्टी में सफेद रंग है जो जनता में पवित्रता और मानवता का संदेश देती है। तीसरी पट्टी में हरा रंग है जो देशवासियों को उम्‍मीद रखने का संदेश देता है। वही गोल सर्कल सूर्य की तरह त्‍याग करने का प्रतीक है।

2) आइवरी कोस्ट (Ivory Coast)

आइवरी कोस्ट का राष्ट्रीय ध्वज भी भारतीय तिरंगे की तरह ही दिखता है। फर्क सिर्फ इतना है कि हमारा तिरंगा हॉरिजोन्टल यानि समानान्तर है जबकि आइवरी कोस्ट का तिरंगा वर्टिकल यानि लम्बवत है। आइवरी कोस्ट के राष्ट्रीय ध्वज में भी केसरिया, सफेद और हरा रंग मौजूद है लेकिन उसमे हमारे तिरंगे की तरह अशोक चक्र जैसा कोई सिम्बल नहीं है।

कोटे डी आइवर यानि आइवरी कोस्ट ने इस झंडे को 1959 में अपनाया था। इस झंडे में मौजूद केसरिया रंग देश में मौजूद रेगिस्तान, उच्चकटिबंधीय घास के मैदान सवाना और देश की तरक्की को रिप्रजेंट करता है। वहीं सफेद रंग शांति, एकता और देश में मौजूद नदियों का प्रतीक है। जबकि हरा रंग बेहतर भविष्य की उम्मीद और देश के दक्षिणी भाग में स्थित रेनफॉरेस्ट का प्रतीक है।

3) आयरलैंड (Ireland)

देखा जाए तो आयरलैँड का झंडा कोटे डी आइवर के झँडे का मिरर इमेज है यानि ठीक विपरीत। ब्रिटेन से आजादी मिलने के बाद आयरलैँड ने 1920 में इस झँडे को अपना राष्ट्रीय ध्वज बनाया था। आयरलैंड के झंडे में भी केसरिया, सफेद और हरा रंग है लेकिन इसमे हरा रंग पहले आता है और केसरिया बाद में। आयरलैँड का हरा रंग इसके एमराल्ड आइलैंड और कैथोलिक हिस्से को दर्शाता है। जबकि सफेद रंग देश में मौजूद सभी धर्मों की एकता का प्रतीक है। वहीं केसरिया रंग प्रोटेस्टेन्ट समुदाय और आयरलैंड की रॉयल फैमिली को रिप्रजेँट करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Do NOT follow this link or you will be banned from the site!
Translate »