बैकुंठ धाम के द्वारपाल जय और विजय को श्राप किन मुनियों ने दिया था? जानिए उनका नाम

भगवान विष्णु के जय-विजय नाम के दो द्वारपाल थे, जो सदैव वैकुंठ के द्वार पर खड़े रहकर श्रीहरि की सेवा

Read more