400KM से दूर हुए JEE-NEET के छात्रों ने सरकार से कहा, ‘कार भेजें’

विपक्षी दल ने भी परीक्षा को लेकर छात्रों के साथ विरोध शुरू कर दिया, वहीं, नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने कहा है कि यह परीक्षा सितंबर में ही आयोजित की जाएगी, जिसमें कोई बदलाव नहीं किया जाएगा, जैसे-जैसे परीक्षा नजदीक आ रही है, छात्र सोशल मीडिया के माध्यम से सरकार को अपनी समस्याएं बताने की कोशिश कर रहे हैं, छात्रों के लिए सबसे बड़ी समस्या परीक्षा केंद्र की दूरी है

जानिए छात्रों ने क्या कहा

परीक्षा के एडमिट कार्ड जारी कर दिए गए हैं, यह पहली बार हो रहा है जब किसी परीक्षा का एडमिट कार्ड आया है और छात्र परीक्षा स्थगित करने की मांग कर रहे हैं,

450KM दूर केंद्र

एक छात्र मनीष चौधरी ने ट्विटर पर लिखा, मेरा केंद्र घर से 432 किमी दूर है, गूगल मैप के अनुसार, केंद्र तक पहुंचने में 8 घंटे 10 मिनट का समय लगेगा, अब थोड़ा सोचें, इतने घंटों की यात्रा करने के बाद छात्र परीक्षा कैसे दे पाएगा?

एक छात्र राधे तन्मय अरुण ने लिखा- परीक्षा केंद्र 186 किमी दूर है, परिवहन की कोई सुविधा नहीं है, भारी बारिश और कोरोना के बीच परीक्षा में आना बहुत मुश्किल होगा परीक्षा केंद्र घर से 186 किमी दूर है, गोगरा मैप के अनुसार केंद्र तक पहुंचने में लगभग 4 घंटे लगेंगे अब हम क्या करें? क्या आप अभी इस महामारी की स्थिति में परीक्षा आयोजित कर रहे हैं?

एक और छात्र है, जिसका नाम शशांक प्रजापति है, उनका परीक्षा केंद्र 124 किलोमीटर दूर है उन्होंने ट्वीट कर सरकार से कहा, परीक्षा केंद्र दूर है, इसलिए कृपया मुझे एक कार भेजें

आपको बता दें, सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहा है वहीं, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इस मुद्दे पर ट्वीट किया और केंद्र से एक बार फिर से विचार करने को कहा

परीक्षा स्थगित करने की मांग अब तेज हो गई है। कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सात राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की, जहां परीक्षा के बारे में चर्चा हुई, जिसमें इन परीक्षाओं के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने पर सहमति बनी है, आपको बता दें कि, सुप्रीम कोर्ट ने सितंबर में इन परीक्षाओं को कराने के लिए हरी झंडी दे दी थी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *