कोरोना वायरस की महामारी के बीच यह देख हैरान हुए वैज्ञानिक

कोरोना वायरस की महामारी के बीच अब दुनिया के सामने एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है। ये खबर ओजोन परत में इतिहास का सबसे बड़ा छेद होने की है। इसे देखकर वैज्ञानिक भी हैरान रह गए हैं।


पृथ्वी के उत्तरी और दक्षिणी ध्रुवों के ऊपर ओजोन परत है। एक ओर खतरनाक कोरोना वायरस की वजह से दुनिया के कई देशों में लगाए गए लॉकडाउन के कारण दक्षिणी ध्रुव की ओजोन परत का छेद कम हुआ है वहीं दूसरी ओर उत्तरी ध्रुव की ओजोन परत में एक बड़ा छेद देखा गया है। अब वैज्ञानिकों इसे अब तक के इतिहास का सबसे बड़ा छेद मान रहे हैं।

उत्तरी ध्रुव धरती का आर्कटिक वाला क्षेत्र। वैज्ञानिकों ने माना कि उत्तर धु्रव के ऊपर एक ताकतवर पोलर वर्टेक्स बना हुआ है।

इस क्षेत्र में बहुत ऊंचाई पर स्थित स्ट्रेटोस्फेयर पर बन रहे बादलों के कारण ओजोन पतली हो रही है। क्लोरोफ्लोरोकार्बन्स और हाइड्रोक्लोरोफ्लोरोकार्बन्स की मात्रा का बढऩा भी इसका कारण माना जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »