कम उम्र में प्रेगनेंसी हो सकती है खतरनाक

अगर किसी कारण किशोरावस्था में गर्भधारण हो जाता है, तो ऐसे में माता-पिता को गर्भधारण कर चुकी महिला या बेटी को निम्नलिखित बातों को बताना चाहिए या कम उम्र में प्रेग्नेंसी के कारण लड़की को भी अपना विशेष ध्यान रखना चाहिए। जैसे-

बेबी डिलिवरी से पहले हमेशा ही डॉक्टर के संपर्क में रहें। ऐसा करने से कम उम्र में बनने वाली मां जन्म लेने वाले शिशु के सेहत पर डॉक्टर नजर बनायए रखते हैं। यह गर्भवती महिला और गर्भ में पल रहे शिशु दोनों के लिए लाभकारी होता है।

सेक्शुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शनस की जांच अवश्य करवानी चाहिए।
कम उम्र में प्रेग्नेंसी की वजह से महिला को फोलिक एसिड, कैल्शियम, आयरन और अन्य आवश्यक पौष्टिक तत्वों का सेवन करना चाहिए।

गर्भधारण कर चुकी महिला को प्रेग्नेंसी के दौरान फिजिकली एक्टिव रहना चाहिए। ऐसा करने से बॉडी में एनर्जी लेवल बढ़ सकती है। अगर गर्भधारण कर चुकी महिला एक्सरसाइज करना चाहती हैं, तो वो गर्भावस्था के दौरान की जाने वाले एक्सरसाइज को कर सकती हैं।

हालांकि डॉक्टर से अवश्य सलाह लें की आपको फिजिकल एक्टिविटी और वर्कआउट कितना करना चाहिए। क्योंकि कभी-कभी हेल्थ कंडीशन को देखते हुए गर्भवती महिला को बेड रेस्ट की भी सलाह दी जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »