प्रकाश झा की फिल्म ‘परीक्षा’ हुई रिलीज़: गरीब वर्गों के संघर्ष के ऊपर आधारित,जानिए इसके बारे में

गंगाजल, राजनीति और अपहरण जैसे सुपरहिट फिल्में देने से बॉलीवुड में प्रख्यात निर्देशक प्रकाश झा की नई फिल्म ‘परीक्षा’ रिलीज़ हो चुकी है। यह फिल्म गरीब वर्गों वाले लोगों के जीवन पर आधारित है। इस फिल्म का निर्माण बेहद मार्मिक तरीके से किया गया है। फिल्म की कहानी घूमती है एक रिक्शा चालक और उसके अपने बेटे को प्राइवेट स्कूल में पढ़ाने के इर्द-गिर्द। मुख्य किरदार रांची के बड़े प्राइवेट स्कूल के बच्चों को अपने रिक्शा पर स्कूल लाने और वापस ले जाने का मामूली काम करता है।

वहीं उसका बेटा “बुलबुल कुमार” पढ़ने में काफी होशियार है। परन्तु सरकारी स्कूल में टीचर के रेगुलर ना आने के कारण उसकी पढाई बधित होती है। और फिर यहीं से शुरू होती है एक बाप के संघर्ष की कहानी जो चाहता है की उसका बेटा पढ़ लिख कर जीवन में आगे बढे। और उन्हें गरीबी के नर्क से निकले।

हालांकि फिल्म में इस बच्चे को लेकर काफी ज्यादा राजनीति भी की जाती है। परन्तु विपरीत परिस्थितियों में भी हौसले बुलंद रखकर आगे बढ़ने की प्रेरणा देती दिखती है हमें यह फिल्म। इस फिल्म में सीनियर सुपरिटेंडेंट ऑफ़ पुलिस का भी रोल है। साथ ही साथ इसमें एक भ्रष्ट और मौकापरस्त विधायक का भी वर्णन किया गया है।

यह फिल्म पूरी तरह से पारिवारिक है। इस फिल्म को देखते वक़्त आपको कहीं भी बोरियत महसूस नहीं होगा। झारखण्ड में बने इस फिल्म में किरदार मगही भाषा बोलते हुए नजर आये है। जो की बिहार-झारखण्ड के पावन भूमि की झलक दिखाता है। यह हरेक उस बाप की व्यथा के ऊपर की कहानी है जो भले ही कम पढ़ा लिखा हो। पर अपने बच्चों को बड़े जतन से पढ़ाने का हौसला रखता है। यह फिल्म आज OTT प्लेटफार्म ‘ZEE5’ पर रिलीज़ की गई है।

मेरा अनुभव इस फिल्म को देखकर काफी बेहतर रहा। आखिर कई दिनों बाद ऐसी पारिवारिक फिल्म देखने को मिली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »