PhD करके भी ठेले से फल-सब्ज़ी बेचने को मजबूर, इंदौर निगम कार्रवाई पर बोली “हाउ विल वी सर्वाइव”

इंदौर नगर निगम के मैदानी अमले के सामने ठेलों पर फल-सब्जी बेचने वालों को हटाना बहुत चुनौतीपूर्ण हो गया है। निगम की बार
बार कार्रवाई से परेशान ठेलेवालों ने मालवा मिल और रामबाग पेट्रोल पंप के सामने हंगामा किया। इसी बीच रईसा अंसारी नाम
की महिला ने भी निगम दल को खूब खरी-खोटी सुनाई।

अंग्रेजी में वह बोली कि मैंने भौतिकी में पीएचडी की है, लेकिन मुस्लिम होने के कारण कोई शिक्षण संस्थान मुझे नौकरी नहीं दे रहा है। सभी को
लगता है कि कोरोना मुस्लिम फैला रहे हैं।

रईसा ने निगमकर्मियों पर बदतमीजी करने का भी आरोप लगाया। उसने कहा कि हर दो मिनट में नगर निगम कर्मी आकर बार-बार 100 रुपये का चालान भरने को कहते हैं। कहां से लाएं पैसे? कोरोना कहीं नहीं है। वो अंग्रेजी में बोली, हाउ वी विल सर्वाइव।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »