यहां के लोग दाल रोटी नहीं खाते है कुत्ते का मांस

  1. चीन:- जानवरों पर क्रूरता के बारे में चीन का नाम सबसे ऊपर आता है। यहां पर जिंदा कुत्तों की खाल उतार ली जाती है। इसका कारण यह बताया जाता है कि इससे कुत्ते का मांस काफी समय तक ताजा बना रहता है और इसमें काफी मात्रा में प्रोटीन भी होता है। इसके अलावा कुत्ते बिल्लियों का मांस बाकि जानवरों की तुलना में सस्ता होता है। इनमें हर एक रेस्टोरेंट में कुत्ते बिल्लियों का वहां बड़ी आसानी से मिल सकता है।
  2. नाइजीरिया:- नाइजीरिया में कुत्तों का मांस सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है। यहां के लोगों का मानना है कि कुत्ते का मीट बीमारियों से लड़ने के लिए शरीर की इम्युनिटी को बढ़ाता है। इसी के चलते यहां पर अधिकतर लोग कुत्ते का भुना हुआ मीट खाते हैं। नाइजीरिया के लोगों का यहां तक का मानना है कि कुत्ते का मांस खाने से इबोला जैसी बीमारियां भी ठीक हो जाती हैं। लेकिन डॉक्टरों ने इस बात से साफ इंकार किया है
  3. अर्क्टिक एंड एंटार्कटिक:- अर्क्टिक एंड एंटार्कटिक में कुत्ते आसानी से नहीं मिलते। इसके लिए यहां आस-पास के इलाकों से इंपोर्ट किए जाते हैं। यह ठंडे इलाके हैं। यहां लोग पेट भरने के अलावा ठंड से निजात पाने के लिए मांस पर ही निर्भर है। कुत्ते का मांस काफी सस्ता होता है और इसमें प्रोटीन भी बहुत मात्रा में होता है।
  4. वियतनाम:- वियतनाम में कुत्ते बिल्लियां ही नहीं तकरीबन हर तरह के जानवर का मीट खाया जाता हैं। लेकिन इसमें कुत्ते को सबसे अधिक पसंद किया जाता है। यहां पार्टी या पारंपरिक त्यौहारों पर भी कुत्तों का मांस परोसा जाता है। वियतनाम में कुत्तों की इतनी डिमांड है कि यहां थाईलैंड से कुत्ते स्मगलिंग भी किए जाते हैं।
  5. इंडोनेशिया इंडोनेशिया में कुत्ते के साथ सूअर का मीट टैबू है। मुस्लिम बहुल कंट्री होने के बावजूद भी यहां कुत्ते और सूअर का मीट सबसे ज्यादा खाया जाता है। शादी पार्टियों में कुत्ते सूअर का मांस यहां आम बात है।
  6. साउथ कोरिया:- साउथ कोरिया में भी कुत्तों के मीट की काफी डिमांड है। सरकार द्वारा यहां कुत्ते और बिल्लियों का मीट बैन है इसके बावजूद यहां कुत्ते बिल्लियों का मीट बाजार में बड़ी आसानी से मिल जाता है। एक अनुमान के मुताबिक प्रतिवर्ष यहां 25 लाख कुत्ते मारकर खा लिए जाते हैं। दोस्तों यह थे दुनिया के वह देश जो कुत्तों के मांस को बहुत ज्यादा पसंद करते हैं।आशा करता हूं यह जानकारी आपको पसंद आई होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *