एक करोड़ सैलरी लेने वाली शिक्षिका निकली बेरोजगार, जानिए कैसे बनी माफियाओं का शिकार

उत्तर प्रदेश में कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में अनामिका शुक्ला नाम से करीब 25 जगह फर्जी तरीके से नौकरी करने और सालभर में करीब एक करोड़ रुपए तनख्वाह लेने वाली अनामिका शुक्ला असल में बेरोजगार है।

यह बात तब सामने आई जब मंगलवार को गोंडा जिले में बीएसए दफ्तर अपने बेगुनाही का सबूत लेकर पहुंची। अनामिका शुक्ला ने अफसरों के समाने जो व्यथा सुनाई उनके उत्तर प्रदेश के शिक्षा माफियाओं के गोरखधंधे का भंडाफोड़ दिया। अनामिका ने आरोप लगाया है कि उन्हीं के दस्तावेजों में फर्जीवाड़ा कर ये घोटाला किया गया है। अनामिका अब सरकार से न्याय की गुहार लगा रही हैं।

अनामिका शुक्ला ने बीएसए के सामने जो शिकायत दर्ज कराई है कि उसके मुताबिक साल 2017 में उन्होंने 5 जिलों, जौनपुर, मीर्जापुर, लखनऊ, सुल्तानपुर और बस्ती में विज्ञान शिक्षिका के पद के लिए आवेदन किया था, लेकिन निजी कारणों से कॉउंसलिंग के लिए नही पहुँच पाई थी। दरअसल, अनामिका ने अपने प्रमाणपत्र और
दस्तावेज इन जिलों में भेज दिए थे, किंतु नौकरी नही करने की स्थिति में वापस नही मंगाए। अनामिका की इसी गलती का फायदा शिक्षा माफियाओं ने उठाया और पूरे फर्जीवाड़े को अंजाम दे दिया।

दोस्तों यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर लाइक करना ना भूलें और अगर आप हमारे चैनल पर नए हैं तो आप हमारे चैनल को फॉलो कर सकते हैं ताकि ऐसी खबरें आप रोजाना पा सके धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *