अब ये भी हो सकता है कोरोना का नया लक्षण

अभी तक कोविड- 19 इंफेक्शन का इलाज और रोकथाम खोजने में वैज्ञानिक और शोधकर्ता विफल रहे हैं, लेकिन कोरोना की अनसुलझी पहले को सुलझाने के लिए दिन-रात एक्सपर्ट की टीम अध्ययन कर रही है।

इन्हीं अध्ययनों के बाद दुनिया को कोरोना वायरस के प्रमुख लक्षणों के बारे में पता चला है, जिन्हें पहचानकर वह अपना टेस्ट, सावधानी या इलाज शुरू करवा सकते हैं। ऐसे ही अब रिसर्च के मुताबिक पैरों में घाव, निशान आदि को भी कोरोना का नया लक्षण माना जा रहा है। आइए, जानते हैं आखिर ऐसा क्यों कहा जा रहा है।

कोरोना वायरस की टेस्टिंग, इलाज और रोकथाम को आसान बनाने के लिए दुनियाभर के शोधकर्ता इस महामारी पर अध्ययन कर रहे हैं। पिछले कुछ दिनों में कई कोरोना के नए लक्षणों के बारे में पता चला है और इसी कड़ी में अब पैरों खासकर तलवों या पंजों में छोटे-छोटे घाव, निशान या धब्बे होने को भी कोरोना का नया लक्षण बताया जा रहा है। स्पेनिश जनरल काउंसिल ऑफ ऑफिशियल पोडियाट्रिस्ट कॉलेज ने बताया कि, यह निशान और धब्बे बैंगनी रंग के हो सकते हैं, जो कि चिकनपॉक्स, मीजल्स आदि इंफेक्शन में आमतौर पर देखे जाते हैं।

कोरोना के नए लक्षणों में कई शारीरिक समस्या शामिल हो चुकी हैं, लेकिन शुरुआत में कोविड- 19 के प्रमुख लक्षणों में सूखी खांसी, बुखार, सांस संबंधित समस्या, सिरदर्द, छाती में जकड़न, मसल्स पेन आदि देखा जा रहा था। लेकिन, समय के साथ इसमें सूंघने या टेस्ट करने की क्षमता में कमी आना, डायरिया जैसी पाचन प्रक्रिया में समस्या, लिवर डैमेज आदि समस्याएं भी शामिल हो गई हैं। यह सभी समस्याएं कोरोना वायरस की वजह से इम्युन सिस्टम और फेफड़ों को पहुंचे नुकसान की वजह से होती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »