कभी इस खिलाडी के पास नहीं थे ऑटो के पैसे, आज हैं 42 करोड़ रुपए के मालिक

भारतीय क्रिकेटरों की यदि बात की जाए तो भारत में इसे कई क्रिकेटर हैं जिन्होंने दुनिया के सबसे मशहूर और अमीर लोगों में अपनी जगह बनाई हैं. हलाकि सफलता के इस स्थान पर पहुचना आसन नहीं होता है.

इसके लिए जीवन में कई टफ की परेशानियों का अमना करना पड़ता है. किसी के लिए भी इस मुकाम को हासिल करना आसन नहीं होता है. मुश्किलों से भरा और तमाम तकलीफों को झेलते हुए भारतीय टीम के एक खिलाडी ने भी सफर तय किया है.

भारतीय क्रिकेट टीम का खिलाडी

भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाडी और कोई नहीं बल्कि अजिंक्य रहाणे है जिन्होंने अपनी बल्लेबाजी से हर कसी को इम्प्रेस किया है. अजिंक्य रहाणे ने यहा तक का सफर तय करने में कई तरह के उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ा. तमाम मुश्किलों के होने के बाद भी उन्होंने कभी भी हार नहीं मानी. और अंत में उन्होंने अपने हुनर का जलवा दिखाया.

आजिंक्य रहाणे

आजिंक्य रहाणे भारतीय टीम के ऐसे बल्लेबाज हैं जो ओपनिंग से लेकर सात नंबर तक भी बल्लेबाजी का जोहर दिखा सकते हैं. आजिंक्य रहाणे के पिता मधुकर एवं मां सुजाता रहाणे ने आजिंक्य को इस मुकाम तक पहुचने में काफी सपोर्ट किया. जीवन के हर मोड़ पर माता पिता ने अपने बेटे का साथ नहीं छोड़ा.

ऑटो में सफर करने के पैसे नहीं थे

एक बार आजिंक्य के पिता के कहा था की एक समय उनकी ऐसी हालत थी की आजिंक्य प्रेक्टिस के लिए एक ऑटो में सफर कर सकता था. आजिंक्य की मां प्रेक्टिस के लिए उनके भाई को गोद में लेकर दो किलोमीटर तक प्रैक्टिस कराने के लिए साथ जाया करती थी.

माँ ने सहा दर्द

जब अजिंक्य पैदल चलते हुए थक जाया करते थे तो उनकी मां एक हाथ में उनका किट बेग और दुसरे हाथ से उनके भाई को उठा कर साथ ले जाती थी. ताकि आजिंक्य को थकान का अहसास न हो सके.

सचिन के साथ खेलूंगा

आजिंक्य जब भी माँ से ऑटो के लिए जिद किया करते थे तो पेसो की कमी के चलते बहाना बनाकर मना कर देती थी. क्योंकि उनके पास ऑटो के पैसे नहीं होते थे. सात वर्ष की उम्र में जब उन्हें पहली बार मैटिंग विकेट वाले कैंप में ले जाया गया तो रहाणे से एक फोटो के बारे में सवाल पूछा गया था जिसे देखकर आजिंक्य ने जवाब दिया था की यह सचिन तेंदुलकर हैं. उन्होंने यह भी कहा था की एक दिन ऐसा आएगा जब वह उनके साथ खेलेंगे.

फर्स्ट क्लास क्रिकेट

आखिर कार वह दिन आ ही गया जिसका अजिंक्य को बरसो से इंतजार था. 2007 में आजिंक्य ने अपना पहला फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेला था. उन्होंने इसी वर्ष टी20 में भी डेब्यू किया था. आइपीएल में 2008 में उन्हें मुंबई इंडियन्स की टीम ने खरीदा था.

सपना हुआ पूरा

2011 की इंग्लैण्ड टूर में वनडे और टी20 सीरिज में आजिंक्य को इंडिया टीम में जगह मिल गई. अपने डेब्यू सीरीज में अजिंक्य ने अपने प्रदर्शन से सभी को काफी प्रभावित किया था. अजिंक्य ने सचिन के साथ मैच खेलने के का सपना 2013 में पूरा किया जब सचिन अपना आखरी टेस्ट मैच खेल रहे थे.

42 करोड़ के मालिक

जिस व्यक्ति के पास ऑटो में बैठने के पैसे नहीं थे वह आज के समय में तक़रीबन 6 मिलियन के मालिक बन गए है. यानि 42 करोड़ रूपये. आज उनके पास BMW कार Volvo की कार के साथ ही अन्य करो का नायाब कलेक्शन है. आजिंक्य के घर की कीमत करीब 3.80 करोड़ बताई जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »