लखनऊ में उमस के बाद आज से मानसून जारी, आसपास के जिलों में होगी भारी वर्षा।

भारत के 2 राज्य भारी बाढ़ की समस्या से जूझ रहे हैं। जिसमें असम और बिहार के नाम सम्मुख आते हैं। बिहार के हालात असम की तुलना में थोड़ा कम भयवाह है, परंतु असम राज्य अपनी तबाही के कगार पर आ गया है। बिहार से भी मीडिया द्वारा पुल के बहने की भी जानकारी टेलीविजन पर प्रसारित की जा रही है। बिहार के लोगों का कहना है कि नीतीश सरकार इन दिनों अपनी सरकार को बनाने हेतु प्रयास कर रही है। जिसमें लालू प्रसाद यादव और तेजस्वी यादव दोनों मिलकर लोगों के बीच रैलियां कर रहे हैं, परंतु कोई भी बिहार की जनता के लिए आगे नहीं आ रहा है। बिहार में चुनावी माहौल की वजह से सब नेता एक से एक बड़े वादे कर रहे हैं परंतु वादे किन्ना पूरे होने पर कुछ ही दिन पहले बिहार के लोगों ने कच्ची पड़ी सड़क पर धान की रोपाई कर दी थी।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में अमौसी के आसपास आंचलिक विज्ञान केंद्र द्वारा लखनऊ तथा लखनऊ के आसपास जिले में भारी वर्षा के संकेत दिए हैं। जिसमें लखीमपुर खीरी, सीतापुर, मलिहाबाद, बाराबंकी आदि जिले में सम्मिलित है। संस्थान द्वारा यह बताया गया कि लखनऊ में बीते दिन उमश से भरे रहे हैं, परंतु अब भी आगे आने वाले दिनों में उमस का खात्मा भारी वर्षा से होने की आशंका जताई जा रही है। मीडिया के द्वारा यह भी बताया गया कि आंचलिक विज्ञान केंद्र ने 28 जुलाई के बाद भारी मानसून की आशंका जताई है। लखनऊ में इन दिनों गर्मी भर दिन गुजर रहे हैं जिसके कारण उमस भी हो रही है बदली जैसे माहौल होते हैं, परंतु वर्षा नहीं होती और इसी की वजह से उमस भरे दिन गुजरते जा रहे हैं परंतु आंचलिक केंद्र द्वारा अच्छे आसार भी दिखाए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »