तीनों सेना के जवान अलग अलग तरह से सैल्यूट क्यों करते हैं जानिए

हमारे देश की सेना हमारी आन वान और शान की रक्षा करती है आपने हमारी तीनों सेनाओं को सैल्यूट करते हुए कई बार देखा होगा लेकिन क्या आपने कभी इस बात पर ध्यान दिया है कि हमारी तीनों सेनाओं के जवान अलग अलग तरह से सैल्यूट क्यों करते हैं और उनका क्या मतलब होता है. आपको देखने में तीनो सेनाओं के सैल्यूट देखने में भले ही एक से लगते हो लेकिन आपको बता दे कि इनके सैल्यूट करने पर काफी अंतर है. आज हम आपको बताएँगे कि हमारी आर्मी, नेवी और एयर फाॅर्स के सैल्यूट में क्या अंतर है और इसका क्या मतलब होता है.

सैल्यूट का अर्थ
सैल्यूट का अर्थ बहुत ही साधरण है. सभी जवान सैल्यूट करके अपने से बड़े को सम्मान देते हैं और सैल्यूट साथ में ये भी बताता है कि उनके पास इस समय कोई हथियार नहीं है और हर कोई उनपर विश्वास कर सकता है.

भारतीय थल सेना Indian Army
भारतीय सेना के सभी जवान आपको कई मौकों पर सैल्यूट करते हुए दिख जायेंगे, इंडियन आर्मी के जवान अपने खुले पंजे से सैल्यूट करते है उनकी सारी अंगुलियाँ सामने की ओर खुली रहती है. इसके अलावा बीच की उंगली और अंगूठा आपके सिर और आईब्रो तक होता है.

भारतीय जल सेना Indian Navy
इनका सैल्यूट करने का तरीका इंडिया आर्मी से काफी अलग होता है. इंडिया नेवी के जवान भी खुली हथेली से सैल्यूट करते है लेकिन उनकी हथेली नीचे की तरफ होती है. इस तरीके के सैल्यूट करने के तरीके के पीछे तर्क दिया जाता है कि पुराने जमाने में नेवी के जवान जहाज में काम भी करते थे जिसकी बजह से उनके हाथ गंदे हो जाते थे इसे छिपाने के लिए वो हथेली को नीचे की तरफ करके सैल्यूट करते थे और तब से ही इंडियन नेवी ऐसे ही सैल्यूट करती नजर आ रही है.

भारतीय वायु सेना Indian Air Force
पहले वायु सेना के जवान आर्मी की तरह ही सैल्यूट करते थे लेकिन साल 2006 में मार्च के महीने में इंडियन एयरफाॅर्स ने अपने जवानों के लिए सैल्यूट के नए फॉर्म तय किये थे. नए फॉर्म वह कुछ इस तरह सैल्यूट करते है कि वह हथेली और जमीन में 45 डिग्री का कोण बनाती है. इन्डियन एयर फाॅर्स इस तरह से आसमान की ओर अपने बढ़ते कदम को दर्शाती है.

दोस्तों यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर लाइक करना ना भूलें और अगर आप हमारे चैनल पर नए हैं तो आप हमारे चैनल को फॉलो कर सकते हैं ताकि ऐसी खबरें आप रोजाना पा सके धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *