जानिए मगरमच्छ पत्थरों को क्यो खाते है?

क्या आपको लगता है कि कोई पत्थर भी खाता है। हा आज मै आपको से दो चीजों के बारे में बताने जा रहा हूं जो पत्थरों को खाते है। हा आपने सही पढ़ा है कि पत्थरों को खाने वाले जीवित प्राणी।
पछी में ऐसा कोनसा पछीं है जो पत्थरों को खाता है तथा क्यो।
सुतुर्मुर्ग ही एक ऐसा पंछी है जो पंछी होते हुए भी नहीं उड़ सकता साथ ही साथ भोजन में पत्थरों को भी खा सकता है।क्या आपने कभी जानने की कोशिश की है कि शुतुरमुर्ग पत्थरों को क्यों खाता है। इसका जवाब है कि सभी पक्षियों की तरह उसके मुंह में भी दांत नहीं होते।तथा आप यह भी जानते हैं कि भोजन को पचाने के लिए उसके टुकड़े होना आवश्यक है और सुतुर्मुग एक ऐसा पक्षी है जो कि फल आदि चीजों को निकल जाता है। उसे इन सभी के छोटे टुकड़े करने के लिए ही पत्थर को निकलता है जिसके कारण उसे खाने पचाने में आसानी होती है पेट के अंदर पत्थर से जब भोजन का ग्रहण होता है उसके कारण भोजन के छोटे-छोटे टुकड़े हो जाते हैं और शुतुरमुर्ग पंछी आसानी से बचा सकता है यही कारण है कि शुतुरमुर्ग पक्षी पत्थरों को खाता है। अब आप इसका जवाब जान गए हैं तो आप सभी को बता सकते हैं कि कौनसा पंछी पत्थर खाता है।
अब मेरा एक प्रश्न है कि क्या कोई भी जानवर पत्थर नहीं खाता?
इस जवाब है कि नहीं,एक जानवर है जो कि पत्थर को खाता है इसका नाम मगरमच्छ है। अब आपने मन में यह प्रश्न आएगा कि मगरमच्छ पत्थरों को क्यो खाता है। इसका जवाब है कि तैरने के लिए उससे पत्थर खाना पड़ता है क्योंकि पत्थर के बजन के कारण ही वह पानी में अंदर की तरफ जा सकता है तथा आसानी से शिकार कर सकता है। एक बात है जोकि आपको हैरान कर सकती है कि मगरमच्छ का सबसे पसंदीदा भोजन कोनसा है? मगरमच्छ किसे सबसे अधिक खाना पसंद करता है? इसका जवाब है कि मनुष्य का शरीर को ही मगरमच्छ सबसे अधिक खाना पसंद करता है तो आपको पता है कि इससे हमें दूरी बनाकर रहना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *