जानिए आखिर अभिमन्यु को क्यों चक्रव्यूह में प्रवेश करना पड़ा

अभिमन्यु अर्जुन का पुत्र था। उन्होंने अपनी मां के गर्भ में चक्रव्यूह में प्रवेश करने की रणनीतियों के बारे में सुना था। युद्ध के मैदान में जब चार पांडवों और उनके सहयोगी द्रोणाचार्य के चक्रव्यूह गठन को तोड़ने में असमर्थ थे।

पांडवो में केवल एक अर्जुन ही थे जिन्हे चक्रव्यूह में प्रवेश करने के साथ साथ उसको तोड़कर बहार निकलना भी आता था। अर्जुन युद्ध के मैदान के दूसरे हिस्से से लड़ रहे थे इसलिए उन्हें चक्रव्यूह के गठन को तोड़ने के लिए नहीं बुलाया जा सकता था।

युधिष्ठिर ने अर्जुन के पुत्र अभिमन्यु को चक्रव्यूह में प्रवेश करने के लिए चुना। अभिमन्यु चक्रव्यूह गठन में प्रवेश करने का रहस्य जानता था, लेकिन उसे पता नहीं चला था कि वह कैसे बाहर निकल सकता है।

अभिमन्यू ने हजारों योद्धाओं को मार डाला उन्होंने दुर्योधन के पुत्र और दुशासन के पुत्र को भी मार दिया। दुर्योधन ने अपने सभी लोगो को एक साथ अभिमन्यु पर हमला करने का आदेश दिया अभिमन्यु लड़े, लेकिन एक संयुक्त हमले में कई योद्धाओं से घिर गए और बहादुरी से लड़ते हुए मारे गए।

दोस्तों यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर लाइक करना ना भूलें और अगर आप हमारे चैनल पर नए हैं तो आप हमारे चैनल को फॉलो कर सकते हैं ताकि ऐसी खबरें आप रोजाना पा सके धन्यवाद।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Translate »
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x