जानिए प्रेगनेंसी में कोरोना वायरस होने पर क्या होगा बच्चे पर असर?

प्रेग्नेंसी में गर्भवती महिला का इम्यून सिस्टम काफी कमजोर हो जाता है और उसके किसी भी संक्रमण, वायरस या फ्लू की चपेट में आने का खतरा बढ़ जाता है। जिस वजह से उसके गर्भ में पल रहे बच्चे के स्वास्थ्य पर भी गहरा असर पड़ता है और वह भी जन्मजात स्वास्थ्य समस्याओं से पीड़ित हो सकता है।

इन सभी जानकारियों के हिसाब से प्रेग्नेंसी में कोरोना वायरस के खतरे के बारे में सिर्फ सोचा ही जा सकता है। कोरोना वायरस के अन्य प्रकारों जैसे SARS और MERS आदि रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट को प्रभावित करने वाले वायरस भी गर्भवती महिलाओं पर बुरा असर करते पाए गए हैं।

गर्भवती महिलाओं में भी गैर-गर्भवती महिलाओं जैसे कोरोना वायरस के लक्षण और गंभीरता देखी गई है। यह रिपोर्ट 15 गर्भवती महिलाओं के ऊपर आधारित है, जो कि कोरोनावायरस से संक्रमित थी। अध्ययन के समय इन में 11 महिलाओं ने बच्चे को जन्म दिया और किसी के बच्चे को कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं पाया गया। जो कि प्रेग्नेंसी में कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रति डर थोड़ा कम करता है। लेकिन, अभी आधी-अधूरी जानकारी और स्टडी होने की वजह से कुछ भी आधिकारिक तौर पर नहीं कहा जा सकता है।

जो गर्भवती महिलाएं बच्चे को जन्म देने से पहले ही इस वायरस से ठीक हो जाती हैं, उनके शरीर में इसके खिलाफ एंटीबॉडी का विकास हो जाता है। जिससे वह बच्चे को जन्म देने के बाद स्तनपान के जरिए उसके शरीर को भी एंटीबॉडी प्रदान कर सकती हैं और एक सुरक्षा दे सकती हैं। लेकिन, चूंकि अभी पूरी और पर्याप्त जानकारी नहीं है, इसलिए कुछ भी पक्का नहीं कहा जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »