जानिए बरसात के मौसम में तांबे के बर्तन का पानी पीने के गजब के फायदे।

  • हमें तांबे के बर्तन का पानी बरसात के मौसम में पीना चाहिए। इस मौसम में यह पानी हमारे लिए अमृत के समान होता है। हमें हमेशा बरसात के मौसम में रात को पानी तांबे के लोटे या जग में भर के रख देना चाहिए।सुबह सुबह खाली पेट की से पी लेना चाहिए। क्योंकि यह हमारे शरीर के लिए अमृत के समान है। क्योंकि यह पानी गंगाजल के समान पवित्र हो जाता है।
  • तांबे के बर्तन में रखा पानी हमारे शरीर के लिए अति उत्तम है। इससे हमारी लीवर व पाचन से संबंधित समस्याएं दूर होती है। हमारे शरीर को यह नई ताजगी से भर देता है।
  • तांबे के बर्तन का पानी सुबह सुबह खाली पेट पीने से हमारे शरीर में थायरोक्सिन हार्मोन नियंत्रित होना शुरू हो जाता है और हमें इस भयंकर रोग से बचाता है। बहुत से लोग आज भी ऐसे हैं। जो सुबह-सबह पानी न पीकर बल्कि चाय पीते हैं।
  • यदि आप में से कोई जोड़ों के दर्द से दुखी है। तो हर रोज रात को तांबे के बर्तन में पानी भरकर रख दे। सुबह होने पर उस पानी को पी ले। यह सब करने से शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा में कमी होना शुरू हो जाती है। जिससे हमारे शरीर में जोड़ों का दर्द हाथों में सूनापन इत्यादि समस्याएं ठीक होती है।
  • आजकल 10 में से तीन चार लोगों को कोई ना कोई समस्या तो जरूर है। तो चलिए बात करते हैं दिल से जुड़ी बीमारी के बारे में। तांबे के जग का पानी पीने से दिल से जुड़ी सभी बीमारियों में हमें आराम मिलता है। यह पानी पीने से हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल भी कंट्रोल में रहता है। हमारे तनाव मुक्त रहने में हमारी मदद करता है और एक खुशहाल जिंदगी जीने में हमारी सहायता करता है।
  • तांबे का बर्तन खरीदते वक्त हमें यह ध्यान रखना चाहिए कि उसमें मिलावट नहीं होनी चाहिए वह शुद्ध तांबा होना चाहिए हमेशा तांबे का भारी बर्तन की खरीदें। न की हल्का-फुल्का खरीद ले। तांबे के बर्तन मैं पानी पीना ही लाभदायक होता है। अन्य चीजें इसमें नहीं पीनी चाहिए जैसे दूध इत्यादि।
  • बरसाती मौसम में तांबे के लोटे या जग का पानी पीना हमारी शरीर की बीमारियों के लिए एक रामबाण औषधि है जो हमें थोड़ी सी मेहनत से फ्री में मिलती है यह उस दी हमें बरसात के मौसम में हर रोज लेनी चाहिए। इसका आसान सा तरीका है। सबसे पहले हमें रात को तांबे के जग में पानी भरकर रख देना चाहिए और सुबह उठ कर कुल्ला किए बिना यह पानी पी लेना चाहिए। यह हमारे शरीर के लिए अमृत के समान है। यह अनेक रोगों को जड़ से खत्म करने की ताकत रखता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »