जानिए धनिया तेल के फायदे

धनिये के तेल के फायदे कामेच्छा बढ़ाने के लिए –
धनिया सुगंधित तेल आपके विवाहित जीवन को स्वर्ग जैसा बना सकता है। आपको कामेच्छा बढ़ाने के लिए 30 से 60 मिनट धनिया बीज के तेल से परिपूर्ण अरोमाथेरेपी का सहारा लेना चाहिए। यह कामेच्छा को बढ़ाने में मदद करता है। साथ ही साथ यह अस्थायी नपुंसकता, पुरुषों और महिलाओं में फ्रिजिडिटी, इरेक्टाइल डिसफंक्शन और सेक्स में अरुचि जैसी समस्याओं का इलाज करता है। इसके अलावा यह तेल कुछ प्रकार के हार्मोन को बढ़ाने में मदद करता है जिससे आपका मूड अच्छा रहे।

धनिया तेल के फायदे करें वजन कम करने में मदद –
जो लोग अपना वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं उन्हें धनिया सुगंधित तेल अपने डाइट प्लान में शामिल करना चाहिए। यह तेल लिपोलिसिस को बढ़ाता है, जिसका मतलब है लिपिड का हाइड्रोलिसिस। हाइड्रोलिसिस का मतलब है फैट या कोलेस्ट्रॉल को तोड़ना। ऐसे में यह तेल आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है।

धनिया तेल के लाभ करें ऐंठन को ठीक –
क्या आप लगातार खांसी से परेशान हैं? क्या आप लगातार क्रैम्पिंग के कारण, अपने खेल में अपनी अच्छी परफारमेंस नहीं दे रहे हैं। तो आपको ऐसे में धनिया सुगंधित तेल का उपयोग करना चाहिए। यह तेल आपको स्पास्मोडिक ऐंठन के साथ साथ अंगों और आंतों की ऐंठन से छुटकारा दिलाने में मदद करता है। यह स्पास्मोडिक हैज़ा की समस्याओं में भी फायदेमंद साबित हो सकता है। इसके अलावा यह नसों में ऐंठन में लाभकारी होता है जो आम तौर पर आपके शरीर और दिमाग को आराम पहुंचाती है।

धनिया तेल के गुण रखें डायबिटीज को नियंत्रित –
धनिये के तेल का उपयोग डायबिटीज को नियंत्रित करने के लिए किया जा सकता है। डायबिटीज को नियंत्रित करने के लिए आपको इसका सेवन भोजन के साथ करना चाहिए।

धनिये के तेल का सेवन दिलाएं दर्द से राहत –
धनिया तेल में टर्पिनियोल (terpineol) और टर्पिनोलीन (terpinolene) जैसे तत्व पाए जाते हैं। ये तत्व एक ऐसे एजेंट के रूप में कार्य करते हैं जो दर्द को कम करने में लाभकारी होते हैं। यह तेल दांतों, सिरदर्द, जोड़ों और मांसपेशियों के दर्द के साथ साथ चोटों या कट्स के इलाज के लिए बहुत ही उपयोगी होता है। इसलिए प्रभावित क्षेत्र पर यह तेल लगाने से दर्द को कम करने में मदद मिलती है।

गठिया से राहत दिलाएं धनिया तेल –
यदि आप गठिया की समस्या से परेशान रहते हैं तो आपको धनिया सुगंधित तेल का उपयोग जरूर करना चाहिए। यह तेल दर्द और सूजन को कम करता है क्योकि इसमें सूजन को कम करने वाले गुण होते हैं। इसके अलावा यह तेल यूरिक एसिड और मूत्र क्रिस्टल को खत्म करने में मदद करता है जो गठिया का कारण बनते हैं।

धनिया का तेल है पाचन के लिए स्वस्थ –
धनिया तेल पाचन के गुणों से भरपूर होता है। यह अपच और पेट फूलने की समस्या से तुरंत राहत प्रदान करता है और इसकी सुगंध एक भूख बढ़ाने वाले एजेंट के रूप में कार्य करती है।

पाचन प्रक्रिया में सुधार करने और अपनी भूख बढ़ाने के लिए, भोजन के बाद इस तेल की मालिश करें। और अधिक लाभ प्राप्त करने के लिए, आप इसमें 2 से 3 बूंद जैतून के तेल मिक्स कर सकते हैं।

धनिये के तेल का उपयोग करें दुर्गंध दूर करने के लिए –
2 से 3 बूंद धनिया सुगंधित तेल को 1 चम्मच किसी अन्य हल्के वाहक तेल के साथ मिक्स करें और इसे शरीर की गंध को खत्म करने के लिए अंडरआर्म पर लगाएं। इस तेल के प्राकृतिक जीवाणुरोधी गुण बैक्टीरिया को मारने में मदद करते हैं जो मुख्य रूप से गंध का कारण बनते हैं। आप इस तेल का उपयोग प्राकृतिक डिओडोरेंट के रूप में भी कर सकते हैं। धनिया आवश्यक तेल को अच्छी तरह से चकोतरा के तेल, नींबू, संतरे, नेरोली तेल और अदरक के तेल के साथ मिक्स किया जा सकता है।

धनिया तेल के औषधीय गुण बचाएं मुहांसों से –
त्वचा को शांत करने के लिए मुहांसों पर धनिये तेल को अन्य तेल में बराबर मात्रा में मिक्स करके लगाएं। यह उपाय एक्ने के कारण हो रही जलन और खुजली से राहत दिलान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »