जानिए डेमिसेक्शुअल लोगों की पहचान कैसे होती है?

डेमिसेक्शुअल शब्द ऐसे लोगों के लिए इस्तेमाल किया जाता है जो किसी भी महिला या पुरुष पर सिर्फ भावनाओं की वजह से ही आकर्षित होते हैं। ऐसे लोगों के दिलों में शारीरिक आकर्षण के लिए कोई जगह नहीं होती है।

डेमिसेक्शुअल लोग किसी भी व्यक्ति के प्यार में जल्दी नहीं पड़ते हैं। ऐसे व्यक्ति पहले अपने साथी के साथ भावनात्मक तौर पर जुड़ना पसंद करते हैं, उसके बाद ही रिश्ते में सेक्स के बारे में विचार करते हैं। वैसे ऐसे लोगों की संख्या बहुत ही कम होती है।

डेमिसेक्शुअल लोगों की पहचान कैसे होती है?
डेमिसेक्शुअल लोग लेस्बियन या गे भी हो सकते हैं। हालांकि, बस ये किसी की भी तरफ जल्दी आकर्षित नहीं होते हैं। किसी के व्यवहार को जानने और समझने के बाद ही इनके मन में फीलिंग्स जागती हैं।

आपने अक्सर देखा होगा कि कई लोग ऐसे भी होते है जो किसी को भी देखकर सेक्स करने का ख्याल अपने मन में लाने लगते हैं। ऐसे लोग किसी अजनबी से जान पहचान बनाने में हिचक भी नहीं महसूस करते हैं, लेकिन डेमीसेक्सुअल लोग ऐसा नहीं कर सकते हैं। वे किसी से दोस्ती करने से पहले भी उससे भावनात्मक तौर पर जुड़ाव पसंद करते हैं और फिर उनके साथ शारीरिक संबंध बनाने की कल्पना कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »