जानिए गर्मियों में ब्यूटी प्रोडक्ट्स आपको किस तरह पहुंचा सकते है नुकसान

अगर आप सोच रहे हैं कि प्रोडक्ट्स के असली या नकली होने से क्या फर्क पड़ता है तो आपको बता दें कि इससे आपकी त्वचा को नुकसान हो सकता है। नियमित फेक या नकली काॅस्मेटिक्स के इस्तेमाल की वजह से गंभीर रोग भी हो सकते हैं। आज इस लेख के ज़रिए हम आपको नकली ब्यूटी प्रोडक्ट्स के नकारात्मक प्रभावों के बारे में बताने जा रहे हैं।

सौंदर्य विशेषज्ञों का कहना है कि नकली सौंदर्य प्रसाधन बेशक सस्ते होते हों लेकिन इसके नियमित इस्तेमाल से आपको भारी खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। विशेषज्ञों का कहना है कि नकली सौंदर्य प्रसाधनों से सेहत को हानि पहुंच सकती है।

इससे त्वचा में संक्रमण और एलर्जी होने का खतरा बढ़ सकता है। संक्रमण या एलर्जी होने की वजह से त्वचा में कील-मुंहासे, डर्माटाइटिस और अन्य तरह की समस्याएं भी हो सकती हैं। विशेषज्ञों की मानें तो किसी भी स्थिति में नकली काॅस्मेटिक्स का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

फेक काॅस्मेटिक्स इस्तेमाल करने वाले जानते हैं कि इससे न सिर्फ एलर्जी हो सकती है बल्कि कई अन्य समस्याएं भी जन्म ले सकती हैं। मसलन, फेक लिपस्टिक के निरंतर इस्तेमाल की वजह से होंठों में सूजन आ सकती है।

आंखें बेहद संवेदनशील होती हैं। आंखों के आसपास कोई भी नकली प्रसाधन लगाना आपकी आंखों को नुकसान पहुंचा सकता है और इसकी वजह से आंखों में संक्रमण भी हो सकता है। नकली मस्कारा लगाने से आई इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »