जानिए एक ऐसी जगह जहां जेवरों से लदे पाए गए कंकाल

देश और विदेश में सभी जगह शहर से लेकर गांव तक लोगों में जेवर पहनने का शोक तो आपने देखा होगा, लेकिन कंकालों को जेवर पहने नहीं देखा होगा। आज हम आपको इस कहानी के बारे में बताएंगे। जहां इंसानो से ज्यादा कंकाल गहने पहने दिखाई देते हैं।

आखिर क्यों ये कंकाल करोड़ों के गहनों को पहने रहते हैं। साल 1578 के दौरान रोम की सड़क के नीचे कुछ रहस्यमयी कब्रों की खोज हुई थी। इसी दौरान इन कंकालों को कब्रों से बाहर निकाला गया था। खबरो के मुताबिक ये कब्र उन लोगों की थीं, जो बहादुरी और ईसाई मान्यताओं के अटूट समर्थन की वजह से संत माने गए।

इन कब्र और कंकालों को ‘द कैटाकोम्ब संत’ कहा गया। इन संतों के कंकालों को पूरे यूरोप में बांटा गया। इन्हें खासकर उन चर्चों में भेजा गया, जहां सुधारवादी आंदोलन के दौरान पवित्र चीज़ों को नुकसान पहुंचाया या चोरी की गई। यूरोपियन चर्चों में इन कंकालों को कीमती जेवरात और कपड़ों से लादकर रखा गया है।

इससे ये संदेश देने की कोशिश की गई कि पैसा और अमीरी मौत के बाद भी उनका इंतजार कर रही है। लेकिन आज के समय में हर व्यक्ति अमीर बनने के सपने लिए क्या से क्या नहीं कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *