घर की इस दिशा में रखने चाहिए जूत्ते-चप्पल वरना हो जाओगे कंगाल

शास्त्रों के मुताबिक अगर शनि की टेढ़ी नजर आपके ऊपर पड़ जाए तो व्यक्ति को परेशानियों का सामना करना पड़ता है इतना ही नहीं शनि की बुरी दृष्टि के कारण बनते हुए काम भी बिगड़ने लगते हैं। हालांकि अगर शनिदेव किसी पर मेहरबान हो जाए तो उस व्यक्ति को किसी चीज की कमी नहीं होती अब सवाल उठता है कि कैसे पता लगाया जाए कि शनिदेव की कृपा आप पर है या नहीं।

शनिदेव का संबंध पैरों से होता है इसलिए आप जूते चप्पलों से जुड़े कुछ खास उपाय करने से शनिदेव को खुश कर सकते हैं। इसलिए आपको बताते हैं शनिदेव के कुछ अच्छे और बुरे संकेतों के बारे में

कई बार मंदिर में भगवान के दर्शन करने के बाद आपके जूते चप्पल चोरी हो जाते हैं। आपको बताते हैं कि यह शनि के अशुभ संकेतों की तरफ इशारा करता है इसका मतलब है कि अब शनिदेव आपका पीछा छोड़ने वाले हैं।

जो व्यक्ति घर के अंदर जूते चप्पल पहनकर आता है इसके साथ ही घर में राहु और केतु जैसे पापी ग्रह भी घर में प्रवेश कर जाते हैं। घर के मुख्य द्वार पर जूते-चप्पल नहीं रखनी चाहिए इससे नकारात्मक ऊर्जा बढ़ती है।

जूतों को घर के बेडरूम इनसे दूर रखना चाहिए कभी भी जूते चप्पल बेडरूम में ना लेकर जाए ध्यान रखें की पूजा घर के आस-पास भी जूते ना होता रहे हैं। फटे जूते भाग्य को खराब करते हैं इसलिए कभी भी फटे हुए जूते नहीं पहने चाहिए। घर के ईशान कोण उत्तर-पूर्व दिशा बेहद जरूरी मानी जाती है इसलिए यहां पर जूते-चप्पल नहीं रखनी चाहिए। जूते चप्पलों को हमेशा पश्चिम दिशा की ओर ही रखें।

शनिवार के दिन काले रंग के चमड़े की चप्पल या जूते को मंदिर के बाहर रखा। इससे घर का शनि दोष दूर होगा किसी को भी शनिवार के दिन जूते चप्पल गिफ्ट ना करें बल्कि गरीबों को इस दिन जूते चप्पल दान करें से शनि दोष दूर होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »