इटली के वैज्ञानिकों ने कोविड-19 वैक्सीन बनाने का किया दावा

इटली में कोरोना वायरस से अब तक दो लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं और सिर्फ इटली में इस महामारी के कारण लगभग 30 हजार मरीज की मृत्यु हो चुकी है। दुनिया में रोजाना से सैकड़ों लोगों के मरने की खबर आती थी, लेकिन आज यह जानकारी मिली है कि इटली में कोरोना वायरस का पहला टीका बना लिया गया है। अगर यह खबर पूरी तरह सच है, तो यह पूरी दुनिया के लिए खुशी की बात होगी कि किसी देश ने कोविड-19 का टीका बना लिया हो।

वैज्ञानिकों का कहना है कि ये एंडीबॉडी मानव कोशिकाओं पर भी काम कर सकते हैं। रोम के हॉस्पिटल के डॉक्टरों का कहना है कि चूहों के शरीर में रहने वाला एंटीबॉडी इंसान के शरीर में भी नोवल कोरोना वायरस को खत्म कर सकता है।

जानकारी यह भी मिली है कि इटली के वैज्ञानिक कई दिनों से कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने की कोशिश कर रहे थे। हॉस्पिटल के लैब में लगातार इसके लिए परीक्षण किए जा रहे थे। वैज्ञानिकों को जब कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने में सफलता मिली, तो इसे मानव के ऊपर जांच भी किया गया। इस सकारात्मक परिणाम से सभी वैज्ञानिक उत्साहित हैं।

इटली में कोरोना वायरस का पहला टीका बनने को लेकर दूसरे विशेषज्ञों ने कहा कि वास्तव में यह बहुत बड़ी बात है, क्योंकि अगर कोविड-19 का यह टीका उम्मीद के अनुसार काम करने लगता है, तो इससे कोरोना वायरस का दुनिया से प्रकोप खत्म होने लगेगा। इसे भविष्य की चिकित्सा के लिए बहुत ही बेहतर आविष्कार माना जाएगा। हालांकि विशेषज्ञों ने यह भी कहा कि अभी सिर्फ यह खबर है और असलियत में यह कितना काम करता है, यह देखना बाकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »