अगर आप दिन में दो बार चाय पीते हैं तो एक बार जरुर देखें

आजकल की भागदौड़ में लोग इतने तनाव और मानसिक तौर पर थक जाते है की चाय पिने के बाद ही उनको आराम आता है और उसको बाद ही वो कार्यो में ध्यान दे पाते है ये तो सच है की चाय से सर का दर्द और तनाव कम होता है

लेकिन क्या आ जानते है की आपके ज्यादा चाय पिने की आदत आपको किस हद तक बीमार कर सकती है यदि किसी को ज्यादा चाय पिने की लत है तो आपके ये आदत अभी छोड़नी पड़ेगी। चाय पिने के अगर फायदे होते है तो यकीं कीजिये ये फायदे सिर्फ एक लिमिट तक पीने वालो को ही मिलते है देखा गया है की लोग पुरे दिन भर में 4-5 कप चाय के पी जाते है जो सेहत के लिए बहुत ही हानिकारक है।

हमारा यकीन कीजिये आज हम आपको ज्यादा चाय पिने के नुकसान बताने जा रहे है ध्यान से पढियेगा और अपनी जयदा चाय पिने की आदत को जल्द से जल्द खत्म कर दीजिये।

ज्यादा चाय पीने के नुकसान

आप कभी भी चाय बनाते है या बाहर चाय पीते है तो हमेशा ही काम चाय की पत्ती डाले और काम पत्ती वाली ही चाय पिए। चेहरे पर आपके दाग धब्बे आ जाएंगे और चेहरा ख़राब हो जाएगा।
अधिक पत्ती वाली चाय को पीने से आपको पेट में गैस की समस्या का भी सामना करना पड़ सकता है.
पेट में दर्द की शिकायत आ सकती है और भी दूसरी तरह की पेट से सम्बंधित बीमारी का सामना करना पड सकता है।
ज्यादा चाय को पिने से आपको कैंसर जैसी बीमारी होने का खतरा बहुत बढ़ जाता है इसीलिए ज्यादा चाय और ज्यादा पत्ती वाली चाय का सेवन ना करे।
चाय के फायदे
चाय पिने के हमे ऊपर नुकसान बताये है लेकिन वो नुकसान तभी है जब आप चाय का सेवन जरुरत से ज्यादा करते है यदि आप चाय को पुरे दिन में 2 कप ही पीते है तो चाय आपको नुक्सान नहीं करेगी फायदा देगी तो आइये अब फायदे पढ़ते है।

हमारा दिमाग ताज़गी महसूस करता है और अच्छी तरह से काम करता है।
चाय आपकी तनाव को दूर करने के काम बड़ी बखूबी से करता है एक कप चाय आपका मानसिक तनाव को दूर कर देती है।
सिर्फ सुबह-शाम को ही पिए इससे दिमाग तंदरुस्त और आप ताज़गी महसूस करेंगे।

दोस्तों यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर लाइक करना ना भूलें और अगर आप हमारे चैनल पर नए हैं तो आप हमारे चैनल को फॉलो कर सकते हैं ताकि ऐसी खबरें आप रोजाना पा सके धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »