सांस लेने में तकलीफ हो तो करें ये उपाय

सांस लेने में तकलीफ होना या सांस फूलना आम समस्याएं हैं जो सामान्य से घातक हो सकती हैं। इसके अलग-अलग कारण होते हैं और इसका उपचार इसकी वजह पर निर्भर करता है। कभी-कभी सांस फूलने की समस्या अपने आप ठीक हो जाती है और कभी-कभी इसके लिए डॉक्टर के पास जाने की आवश्यकता होती है। सांस लेने में तकलीफ होना कई बीमारियों का एक लक्षण हो सकता है या ये समस्या एक्सरसाइज करने और दौड़ने जैसे कारणों से भी हो सकती है। वजह चाहे जो भी हो अगर आपको सांस लेने में दिक्कत होती है तो अपने डॉक्टर के पास अवश्य जाएं।

खुद को सांस लेने में तकलीफ हो तो क्या करना चाहिए –
अगर आपको सांस लेने में तकलीफ हो रही है या आपकी सांस फूल रही है तो निम्नलिखित तरीके से आपको आराम मिल सकता है –

अपनी सांस फूलने की समस्या की वजह जानने की कोशिश करें। कभी-कभी स्ट्रेस या सिगरेट के धुंए आदि कारणों से सांस फूलने की समस्या होने लगती है।
अगर आपको अपनी सांस लेने में तकलीफ की वजह पता है, तो उस कारण से दूर जाने की कोशिश करें। जैसे – अगर आपको सिगरेट के धुंए के कारण सांस फूलने की समस्या हो रही है, तो सिगरेट के धुंए से दूर स्वच्छ वातावरण में चले जाएं।
लम्बी गहरी सांसें लेने की कोशिश करें।
अपनी नाक से सांस अंदर लें और होठों को गोल करके सांस बाहर छोड़ें।
अगर आपको अस्थमा है या डॉक्टर के द्वारा बताया गया है, तो इनहेलर का उपयोग करें।
अगर आपको पहले भी सांस फूलने की समस्या हुई है, तो डॉक्टर की बताई हुई दवा लें।
अगर हो सके तो कॉफी पी लें। ऐसा माना जाता है कि कॉफी पीने से श्वसन नलियां खुलती हैं और सांस फूलने की समस्या में मदद मिलती है।
अगर आपको बेहतर महसूस नहीं हो रहा है, तो एम्बुलेंस को फोन करें या मदद बुलाएं।
सांस फूलने पर डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए –
निम्नलिखित स्थितियों में अपने डॉक्टर के पास अवश्य जाएं –

अगर आपको जुकाम या कोई अन्य श्वसन संक्रमण है और आपको सांस लेने में तकलीफ हो रही है।
सांस फूलने के साथ पंजों या टखनों में सूजन होना।
2 हफ्ते से अधिक जुकाम होना।
सीधे लेटने पर सांस लेने में दिक्कत होना।
सांस लेने में तकलीफ के साथ खांसी में खून आना।
सांस फूलने के साथ तेज बुखार, ठण्ड लगना और खांसी होना।
सांस लेने में तकलीफ के कारण नींद न आना और रात को नींद खुल जाना।
सांस लेने में आवाज आना।
रोजाना के सामान्य कार्य करते हुए सांस फूलना।
सांस लेने में तकलीफ से होने वाले लक्षणों का और बिगड़ना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »