मास्क नहीं है तो करें रुमाल का यूज

अगर किसी देश के पास पर्याप्त मात्रा में मास्क नहीं है तो वाकई वो भारत इस बारे में सीख ले सकता है। भारत के प्रधानमंत्री ने लोगों को सलाह दी है कि अगर आप घर से बाहर निकल रहे हैं और आपके पास मास्क नहीं है तो कॉटन हैंकी या फिर गमछे का भी यूज किया जा सकता है। ये बात सच है कि कॉटन की सहायता से वायरस से पूरी तरह से बचाव नहीं होता है, लेकिन फिर भी कुछ हद तक संक्रमण से बचा जा सकता है। बिना मास्क के संक्रमित व्यक्ति तेजी से वायरस फैला सकता है। वहीं कॉटन मास्क संक्रमण के खतरे को रोकने का काम करता है।

इन बातों का रखें ध्यान
कोविड-19 को जड़ से मिटाने के लिए भारत देश की सरकार लगातार काम कर रही है। भारत देश से अन्य देश भी कोरोना से लड़ने की प्रेरणा ले रहे हैं। लेकिन वायरस का अंत तभी हो पाएगा जब प्रत्येक व्यक्ति साफ-सफाई के प्रति सजग रहेगा। कुछ बातों का ध्यान रख आप भी जिम्मेदार नागरिक बने और इन बातों का ध्यान रखें।

हाथों को अच्छी तरह से धोएं।
बेवजह लोगों से न मिलें, भीड़ न लगाएं।
आंखों, नाक और मुंह को छूने से बचें।
छींकते या खांसते समय अपने मुंह और नाक को किसी टिश्यू पेपर या फिर कोहनी को मोड़कर ढकें।

अगर आपको बुखार, खांसी या सांस लेने में दिक्कत हो रही है, तो जितनी जल्दी हो सके डॉक्टर से मिलें।
अपने हेल्थ केयर प्रोवाइडर की हर सलाह मानें और पूरी जानकारी प्राप्त करते रहें।
भारत सरकार का कहना है कि अगर आप मास्क लगा रहे हैं तो उससे पहले अपने हाथों को एल्कोहॉल बेस्ड हैंड रब या फिर साबुन और पानी से अच्छी तरह धोएं।
अपने मुंह और नाक को मास्क से अच्छी तरह कवर करें कि उसमें किसी भी तरह का गैप न रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »