पृथ्वी घूमती है तो हमे पता क्यों नहीं चलता है जानिए क्या है कारण

आप सभी के मन मे कभी न कभी तो ऐसा सवाल जरूर आया होगा कि अगर पृथ्वी घूमती है तो हमे पता क्यों नही चलता या फिर अगर यह घूम रही हर तो हमारे आस पास की वस्तुएँ एक ही जगह पर क्यों होती है ऐसे बहुत से प्रशन आपके दिमाग मे आते होंगे तो आज हम आपको इसी के बारे में बताएंगे तो आइए जानते है

क्या आपको पता है कि पृथ्वी 365 दिनो में सूरज का एक चक्र लगाती है ओर यह स्पीड 30 किलोमीटर प्रति सेकंड की होती है जब पृथ्वी सूरज के चक्र लगाती है लेकिन आप में से बहुत सारे लोगो के मन मे यह सवाल आता होगा की अगर पृथ्वी घूमती है तो हमारा घर उसी जगह पर क्यों रहता है बल्कि हमारा घर दूसरी जगह पर होना चाहिए

जब हम हवाईजहाज से उड़ान भरते है तो उसी जगह landing क्यों करते है हमारी जगह बदलती क्यों नही
अगर हम ऊपर की ओर jump मरते है तो उसी जगह पर आकर क्यों गिरते है आपके दिमाग मे जितने भी ऐसे सवाल है उनका जवाब आपको इस पोस्ट में मिल जाएगा

क्या आपको पता है कि अभी आप 1675 किलोमीटर प्रति घण्टे की स्पीड से घूम रहे हो लेकिन बहुत से लोग अभी भी उस बात को नही मानते है कि हम कैसे घूम सकते है
हमारी पृथ्वी अपने अक्ष पर घूमती है जिसे एक चक्कर लगाने में 24 घंटे का समय लगता है पृथ्वी ही नही बल्कि ब्रह्मांड स्थति हर एक वस्तु अपनी धुरी पर घूम रही है हम सब को रोशनी देने वाला सूरज भी अपने अक्ष पर घूमता है सूरज को अपने अक्ष में एक चक्कर पूरा करने में लगभग 35 दिन लगते है
आज तक बहुत से लोग धरती को सीधी सपाट मानते है लेकिन आज से लगभग 2500 साल पहले गणित के महान गणितज्ञ पाइथागोरस ने हमे बताया था कि पृथ्वी गोल है.

हमारी पृथ्वी जिस गति से घूम रही है अगर इसकी तुलना दुनिया की सबसे तेज़ चलने वाली ट्रेन जापानी maglev train से करे तो उस ट्रैन से हमारी पृथ्वी की घूमने की गति उससे 3 गुना ज्यादा है यह ट्रेन लगभग 603 किलोमीटर प्रति घण्टे की स्पीड से चलती है
हमे पृथ्वी के घूमने का पता इस लिए नही चलता क्योंकि जब हमारी पृथ्वी अपने अक्ष पर घूमती है तो वह एक निर्धारित गति से घूम रही होती है ओर हम भी उसी गति से पृथ्वी के साथ घूम रहे होते है हमारे साथ पूरा वातावरण भी चक्कर लगा रहा होता है इसी लिए हम पृथ्वी की गति को महसूस नही कर पाते

आइए एक उदाहरण से समझते है

अगर आप किसी ट्रैन में बेटे है और वो ट्रैन 80 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से चल रही है तो क्या आप उस ट्रैन की गति को महसूस कर पाते है जब तक आप खिड़की से बाहर नही देखते हो तब तक आप उस ट्रैन की गति को महसूस नही कर सकते हो
यही सब हम पृथ्वी पर करते है मान लो पृथ्वी ट्रैन है और ट्रेन के बाहर का वातावरण अंतरिक्ष है अब जब हम ट्रैन में बेटे होते है तब हम उनकी गति को महसुस नही कर पाते है तो हम पृथ्वी की गति को कैसे महसूस कर सकते है

इंसान पृथ्वी के किसी भी भाग पर खड़ा होकर यह नहीं बता सकता कि धरती गोल है क्योंकि धरती उस इंसान की तुलना में बहुत बड़ी है ओर हमे यह पृथ्वी सीधी सपाट नज़र आती है और इसी लिए हम इसका घूमना महसूस नहीं कर सकते है.

दोस्तों यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर लाइक करना ना भूलें और अगर आप हमारे चैनल पर नए हैं तो आप हमारे चैनल को फॉलो कर सकते हैं ताकि ऐसी खबरें आप रोजाना पा सके धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »