इस मंदिर में प्रवेश करते ही इंसान बन जाता हैं पत्थर,जानिए क्या है कारण

दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते हैं कि दुनिया में ऐसी बहुत सारी अजीब चीजें होती है जिसे सुनकर आप चौक जाते होंगे आज हम आपको एक ऐसे ही मंदिर के बारे में बताने वाले हैं जिस मंदिर में यदि कोई मनुष्य प्रवेश करता है तो प्रवेश करते ही वह पत्थर का बन जाता है इसके पीछे क्या रहस्य है आज हम बताने वाले हैं तो चलिए आपको बताते हैं .

राजस्थान जिले के बाड़मेर से करीब 30 किमी की दूरी पर स्थित किराड़ू गांव का एक मंदिर बहुत प्रसिद्ध है. यहा स्थित मंदिर के नाम पर ही इस गांव का नाम भी प्रख्यात हुआ. हर कोई इस मंदिर को ऐतिहासिक श्रापित मंदिंर मानते हैं. मंदिर को लेकर यहा की कहानी इतनी प्रचलित है, कि जो भी इस मंदिर के बारे में जानता है वह मंदिर से डर जाता है।

श्राप मिला था

कहा जाता है की 11वीं शताब्दी के मध्य किराड़ू परमार वंश की राजधानी थी, लेकिन आज के समय में देखा जाये तो वहां सिर्फ घनघोर सन्नाटा पसरा हुआ है.
वहा के लोग मंदिर से जुड़ा श्राप और अपशकुन के बारे में कई तरह की बातें बताते हैं. कई व्यक्तियों को यह कहानी दिलचस्प लगती है तो कई व्यक्ति इस मंदिर में आने भी कतराते हैं.

इस मंदिर की सबसे दिलचस्प और डरावनी बात मंदिर के बाहर रखा एक पत्थर हैं. कहा जाता है की वह पत्थर एक कुम्हारिन हैं, एक ऋषि के श्राप के कारण कुम्हारिन वहा पत्थर में परिवर्तित हो गई थी.

इस डर की वजह से शाम होते ही वहा के मंदिर में घना सन्नाटा पसर जाता है. इस डर की वजह से वहा की खूबसूरत वास्तुकला को ढक कर ताला लगा दिया जाता है.

कहा जाता है की इस मंदिर में प्रवेश करते ही इंसान पत्थर में तब्दील हो जाता है. जो भी शाम को इस मंदिर मे रुकता है, वह पत्थर बन जाता है. वहा के लोग कहते है, की मंदिर में जो भी पत्थर मौजूद हैं वह सब इंसान हैं, जो पत्थर में तब्दील हो गए हैं.

सिर्फ दो मंदिर हैं सुरक्षित

मंदिर की यह डरावनी बात हर किसी को हैरान कर देती है, जिसके चलते आज तक यहा पर कानूनी रुप से किसी तरह की जांच नहीं हो पाई. 19वीं शताब्दी में इस स्थान पर भूकंप आया था, जिस वजह से मंदिर को काफी नुकसान पहुंचा. भूकंप के कारण मंदिर को यहां के लोग छोड़ कर चले गए थे.

किराड़ू मंदिर वास्तुकला के नजरिए से बेहद ही खूबसूरत है, जहा आसानी से लोग घूम सकते हैं. लेकिन लोगो द्वारा कही जाने वाली कहानीयों के बाद किसी पर्यटक या निवासी की शाम होने के बाद के बाद मंदिर में प्रवेश करने की हिम्मत नहीं होती.

दोस्तों यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर लाइक करना ना भूलें और अगर आप हमारे चैनल पर नए हैं तो आप हमारे चैनल को फॉलो कर सकते हैं ताकि ऐसी खबरें आप रोजाना पा सके धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »