पसीने की बदबू दूर करने के घरेलु उपाय

कभी कभी शरीर से हल्की गंध आना सामान्य है, लेकिन अत्यधिक या अप्रिय तन की गंध दूसरों को काफी परेशानी पहुंचा सकती है जो आपके लिए भी शर्मनाक हो सकता है।

जब पसीने की ग्रंथियां अधिक सक्रिय हो जाती हैं तो शरीर से दुर्गन्ध उत्पन्न होती है। लेकिन यह गंध पसीने की वजह से नहीं पसीने के बैक्टीरिया के साथ मिलने की वजह से आती है। शरीर से दुर्गन्ध उत्पन्न करने वाला जीवाणु गर्म और नम वातावरण में तेज़ी से बढ़ता है।

तन की दुर्गन्ध के कुछ अन्य कारणों में अस्वछता, पोषक तत्वों की कमी, गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्यायें जैसे कब्ज आदि प्रमुख हैं। अन्य चिकित्सा समस्यायें जैसे आनुवंशिक चयापचय संबंधी रोग, लिवर की बीमारी या शुगर आदि भी शरीर की बदबू के लिए उत्तरदायी हैं।

बदन की बदबू का प्राथमिक लक्षण शरीर से उत्पन्न असामान्य तीव्र गंध है। अन्य लक्षणों में अत्यधिक पसीना आना, वजन घटना, रात में पसीना आना (Night sweats) आदि प्रमुख हैं।

शरीर की दुर्गन्ध का इलाज दवाओं द्वारा या स्वच्छता का ध्यान रखकर किया जा सकता है। यहां कुछ सरल और प्राकृतिक घरेलू उपचार दिए जा रहे हैं जो बैक्टीरिया की वृद्धि को नियंत्रित करके अत्यधिक पसीने और शरीर की बदबू से छुटकारा दिलाने में आपकी मदद करेंगे।

बेकिंग सोडा करे तन की दुर्गन्ध दूर –
चूंकि बेकिंग सोडा त्वचा से नमी अवशोषित करने में मदद करता है इसलिए यह पसीने को अवशोषित करता है और शरीर की दुर्गन्ध को कम करता है। इसके अलावा, यह बैक्टीरिया को भी नष्ट करता है और एक प्राकृतिक डिओडोरेंट की तरह काम करता है।

एक चम्मच बेकिंग सोडा और एक ही चम्मच नींबू का रस मिलाएं। इसे अपनी बगलों (Underarms) और अन्य अंगों पर (जहां भी अधिक पसीना आता है) लगायें। इसे दो मिनट के लिए लगा रहने दें और स्क्रब बिलकुल भी न करें। इसे पानी से धोने के बाद नहा लें। कुछ हफ्तों के लिए प्रतिदिन यह प्रक्रिया दोहरायें।

वैकल्पिक रूप से, बेकिंग सोडा और मकई के आटे की बराबर मात्रा मिलायें। पसीने और उसकी बदबू को रोकने के लिए इसे बगलों पर लगायें। जब आपको अधिक समय के लिए सुरक्षा की ज़रूरत हो तब इस उपाय का उपयोग करें।

सेब का सिरका दिलाये बदन की बदबू से छुटकारा – A
सेब का सिरका बैक्टीरिया से लड़ने के लिए शक्तिशाली सामग्री है। यह त्वचा के पीएच स्तर को संतुलित करके शरीर की दुर्गन्ध को खत्म करने में भी मदद करता है।

सेब के सिरके में एक रुई का टुकड़ा भिगोयें और अपनी बगलों पर रगड़ें। दो से तीन मिनट तक प्रतीक्षा करें और फिर नहा लें। जब तक आपको सुधार महसूस न हो, इस उपाय को प्रतिदिन दो बार (एक बार सुबह और फिर सोने से पहले) दोहरायें।
वैकल्पिक रूप से, एक कप सेब के सिरके को नहाने के गुनगुने पानी में मिलायें। इस पानी में 10 मिनट के लिए नहायें।
एक गिलास गर्म पानी में दो चम्मच सेब का सिरका और थोड़ा शहद मिला लें। रोज़ इस मिश्रण को भोजन से पहले पियें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »