कैंडिडियासिस इंफेक्शन को दूर करने के घरेलू उपचार

ये फंगल इंफेक्शन मुख्य रूप से बच्चों में ज्यादा होता है। इसके होने का एक कारण है बच्चों को ज्यादा देर तक डायपर पहना कर रखना। इसके आलावा वयस्कों में काफी टाइट कपड़े पहनने और ज्यादा पसीना डिस्चार्ज होने की वजह से भी कैंडिडियासिस फंगल इंफेक्शन होने का खतरा ज्यादा रहता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, शरीर के जिस हिस्से में पसीने का स्त्राव ज्यादा होता है जैसे आर्मपिट, जांघों के बीच और उंगलियों के बीच, वहां इस फंगल इंफेक्शन के होने का खतरा सबसे ज्यादा रहता है। कैंडिडियासिस फंगल इंफेक्शन के इस प्रकार में आमतौर पर शरीर के इन हिस्सों में लाल रंग के दाने या चक्कते नजर आ सकते हैं। चूंकि ये फंगल इंफेक्शन शिशु को ज्यादा प्रभावित करता है इसलिए उनमें इसके होने के चांस सबसे ज्यादा रहते हैं।

फंगल इंफेक्शन से बचने के लिए कपड़े हमेशा पूरी तरह से सूखे हुए पहनें। कभी भी सेमी ड्राई या गीले कपड़े में ज्यादा देर ना रहें।

शिशु को इस इंफेक्शन से बचाने के लिए उसका डायपर समय-समय पर बदलते रहें।
महिलाएं कैंडिडियासिस फंगल इंफेक्शन से बचने के लिए योनि की साफ-सफाई का ध्यान रखें जिससे pH लेवल बैलेंस रह सके।

खासतौर से गर्मियों के मौसम में जूते की जगह पर चप्पल पहनने को ज्यादा तवज्जो दें।

जिनका वजन ज्यादा है उन्हें वेट लॉस पर खास ध्यान देना चाहिए। मोटापे की वजह से भी ये फंगल इंफेक्शन हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »