शरीर की ताकत बढ़ाने के घरेलू उपाय

हर व्यक्ति की ताकत उसके आहार और जीवनशैली पर निर्भर करती है। शारीरिक ताकत का संबंध आपके प्रतिरक्षा तंत्र से भी होता है। ताकत कम होने से आपको कमजोरी महसूस होती है और इसके कारण आप कई रोगों की चपेट में आ जाते है। रोगों से बचने व कार्यों को प्रभावी तरीके से करने के लिए शरीर में ताकत सही स्तर पर होनी चाहिए।

इसके लिए आज हम आपको ताकत बढ़ाने के उपायों के बारे में बता रहें हैं। इसके साथ ही साथ आपकी ताकत को बढ़ाने के लिए कुछ उपयोगी सुझाव भी देंगे।

ताकत क्या है? –
किसी व्यक्ति के शारीरिक बल की क्षमता को ताकत कहा जाता है। जब आप किसी भार को उठाते हैं या किसी भारी वस्तु को उठाकर एक जगह से दूसरी जगह ले जाते हैं तो इसमें आपके शरीर की ताकत का ही प्रयोग होता है। शारीरिक ताकत हर व्यक्ति में अलग-अलग हो सकती है। लेकिन आप अपनी ताकत को आसानी से बढ़ा भी सकते हैं। बस इसके लिए आपको नीचे बताए गए उपायों और सुझावों को दिनचर्या में अपनाना होगा।

ताकत को बढ़ाने के लिए नियमित दौड़े –
नियमित रूप से दौड़ना एक बेहतर व्यायाम होता है। ताकत बढ़ाने का यह आसान तरीका माना जाता है। दौड़ने से न केवल आपकी वसा और कैलोरी कम होती है, बल्कि इससे आपके पैरों और कूल्हों की मांसपेशियां भी गठिली बनती हैं। ताकत को बढ़ाने के लिए आपको रोजाना सुबह एक घंटे दौड़ना चाहिए। इससे आपका वजन भी नियंत्रण में रहता है।

ताकत बढ़ाने का तरीका है तैराकी करना –
नियमित रूप से तैराकी करने से शारीरिक ताकत में तेजी से इजाफा होता है। स्टेमिना को बढ़ाने, ताकत पाने, मांसपेशियों को लचीला बनाने और शरीर के वजन को सही रखने के लिए हर व्यक्ति को तैराकी करने की सलाह दी जाती है। दिन में मात्र 30 से 40 मिनट तैराकी करने से आप खुद को अधिक आयु होने पर भी ताकतवर और युवा बनाए रख सकते हैं।

शारीरिक ताकत बढ़ाने के लिए पुशअप करें –
शारीरिक शक्ति को बढ़ाने के लिए आपको नियमित रूप से कुछ एक्सरसाइज करनी होती है। इन एक्सरसाइज में पुशअप शामिल है। पुशअप को आप कहीं भी आसानी से कर सकते है। इसको करने के लिए किसी उपकरण आदि की आवश्यकता नहीं होती है। आप इसको सुबह के समय आधा घंटा कर सकते है और सुबह के समय की जानें वाली एक्सरसाइज आपको फिट रखने के लिए अधिक उपयोगी होती है। इस एक्सरसाइज से आपकी छाती, कंधे और हाथों की मांसपेशियां मजबूत होती है।

ताकत बढ़ाने का उपाय है सिट अप्स (Sit ups) –
जिस तरह से पुशअप में हाथों और छाती की मांसपेशियों की क्षमता को बढ़ाया जा सकता है, ठीक उसी तरह से पेट व उसके निचले भाग को मजबूत बनाने के लिए आपको सिट अप्स (Sit ups) एक्सरसाइज करनी होती है। इस एक्सरसाइज को अच्छी तरह से सीखने के बाद ही करना चाहिए, क्योंकि कई बार इस एक्सरसाइज को करते समय आप पीठ और गर्दन पर ध्यान नहीं दे पाते हैं। जिससे आपको अन्य परेशानियां भी हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »