वैरिकोज वेन्स की समस्या ठीक करने के घरेलू उपाय

वैरिकोज वेन्स एक आम समस्या है, जिसमें नसों का आकार बढ़ जाता है और वे दिखने लगती हैं। इसमें नसों का गुच्छा बन जाता है, जिसे स्पाइडर वेन्स भी कहते हैं। यह आमतौर पर पिंडली या जांघ की नसों में होती हैं। जब इन भागों की नसें कमजोर पड़ जाती हैं या खून के बहाव को नियमित रखने वाले वाल्व ठीक से काम करना बंद कर देते हैं तो यह समस्या शुरू होती है। इस स्थिति में आपके पैरों में दर्द, थकान और जलन महसूस होती है, साथ ही झुनझुनी या पैरों में भारीपन भी लगने लगता है।

इस बीमारी का चिकित्सीय और सर्जिकल इलाज महंगा हो सकता है। वैरिकोज वेन्स की गंभीरता को कम करने के लिए आप कुछ घरेलू उपायों की मदद भी ले सकते हैं। यह उपाय वैरिकोज वेन्स के लक्षणों को कम करने में मदद करेंगे।

वैरिकोज वेन्स का घरेलू नुस्खा है व्यायाम –
रोजाना व्यायाम करने से पैरों में ब्लड सर्कुलेशन अच्छा होता है। व्यायाम करने से व्यक्ति का ब्लड प्रेशर भी संतुलित रहता है। ब्लड प्रेशर असंतुलित रहने से भी वैरिकोज वेन्स की समस्या शुरू होती है। कम गति वाले व्यायाम करने से पिंडली की मांसपेशियां सही तरीके से काम करती हैं। आप रोजाना कम गति वाले व्यायाम जैसे स्विमिंग, चलना, साइक्लिंग, योग आदि कर सकते हैं। ऐसे कोई भी व्यायाम जिसमें आपके पैरों का इस्तेमाल हो रहा है जैसे दौड़ना, सीढ़ियां चढ़ना आदि इनसे आपके पैरों की मांसपेशियों में सुधार होगा जो कि ह्रदय तक रक्त को पहुंचाएगा और पिंडली में खून को इक्खट्ठा होने से रोकेगा।

वैरिकोज वेन्स की समस्या ठीक करने के लिए वजन नियंत्रित रखें –
अधिक वजन होने से शरीर के ज्यादातर सभी हिस्सों में तनाव बढ़ता है और इससे आपकी जीवनशैली सुस्त हो जाती है। सुस्त जीवनशैली की वजह से आपका चलना-फिरना भी कम हो जाता है। जिन लोगों का वजन सामान्य से ज्यादा होता है आमतौर पर खून को टांगों से वापस हृदय तक पंप करने की प्रक्रिया ठीक से काम नहीं कर पाती। साथ ही, आपका वजन सामान्य से ज्यादा है तो इसका मतलब है कि आपकी रक्त वाहिकाओं में खून की मात्रा भी अधिक है। रक्त वाहिकाओं में अधिक खून होने के कारण उनमें दबाव और तनाव बढ़ जाता है। अगर आपको वैरिकोज वेन्स की समस्या है तो रोजाना वजन मापे और अधिक वजन को कम करने की कोशिश करें।

वैरिकोज वेन्स से छुटकारा पाने के लिए फाइबर से समृद्ध आहार खाएं –
फाइबर की मदद से आंतों के कार्य को स्वस्थ बनाने में मदद मिलती है। अगर आपको कब्ज की समस्या है तो ज्यादा से ज्यादा फाइबर युक्त आहार खाने की कोशिश करें। मल त्याग करने में अधिक जोर लगाने से पेट के अंदरूनी भाग पर अधिक दबाव पड़ सकता है, इससे नसें और वाल्व खराब हो सकती हैं। अपने आहार में फाइबर से समृद्ध आहार मिलाएं जैसे साबुत अनाज से बने खाद्य पदार्थ, गेहूं, ओट्स, नट्स, अलसी के बीज, मटर, बीन्स, अंजीर, एवोकाडो, टमाटर, ब्रोकली, गाजर, पत्ता गोभी, प्याज, शकरकंद आदि।

वैरिकोज वेन्स का घरेलू उपाय है मसाज –
नसों में खून इखट्टा होने से वैरिकोज वेन्स की समस्या और बढ़ जाती है। इससे पिंडली में रक्त प्रवाह भी रुक जाता है। रक्त प्रवाह बढ़ाने के लिए आप मसाज की मदद ले सकते हैं। आराम-आराम से पैरों की मसाज करने से नसों में रक्त प्रवाह बढ़ता है। मसाज करने के लिए आप नारियल तेल, जैतून के तेल या मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल कर सकते हैं। मसाज करते समय नसों पर दबाव न डालें, इससे कमजोर उत्तकों को नुकसान पहुंच सकता है।

वैरिकोज वेन्स की परेशानी को दूर करने के लिए खाने में बदलाव करें –
नमक और सोडियम से समृद्ध आहार शरीर में पानी जमा होने का कारण बन सकते हैं, तो शरीर में वाटर रिटेंशन को कम करने के लिए अपने आहार से नमक वाले खाद्य पदार्थों को निकाल दें। जो खाद्य पदार्थ पोटैशियम से समृद्ध होते हैं वो वाटर रिटेंशन को कम करने में मदद करते हैं। पोटेशियम से समृद्ध आहार जैसे बादाम और पिस्ता, दाल और सफेद बीन्स, आलू, हरी सब्जियां, अंडे, कुछ मछली जैसे सल्मोन और टूना। इसके अलावा, जिन लोगों को वैरिकोज वेन्स की समस्या है उन्हें सभी प्रकार के विटामिन लेने चाहिए जैसे, विटामिन बी6, विटामिन बी9 और विटामिन बी12 आदि। अपने आहार में सूजनरोधी आहार भी मिलाएं जो दर्द व सूजन से राहत दिलाने में मदद करेंगे।

वैरिकोज वेन्स के लिए रोजाना की गतिविधियों को बढायें –
ऑफिस हो या घर कहीं भी लम्बे समय तक न बैठें। अगर आप लम्बे वक़्त तक बैठे रहते हैं तो आपको कुछ-कुछ देरी पर उठकर टहलना चाहिए। इससे आपके शरीर में रक्त का प्रवाह बेहतर होता है, खासकर पैरों में। कभी भी पैरों को एक-दूसरे के ऊपर चढ़ाकर न बैठें इससे पैरों व पंजों में ब्लड सर्कुलेशन रुक सकता है। अगर आपकी बैठे रहने की जॉब है या घर में भी अधिक बैठे रहते हैं तो पैरों को बैठे हुए भी स्ट्रेच कर सकते हैं और 15 मिनट के लिए चल भी सकते हैं।

वैरिकोज वेन्स को ठीक करने के लिए लाल मिर्च का इस्तेमाल करें –
वैरिकोज वेन्स के लिए लाल मिर्च बहुत ही बेहतरीन उपाय है। लाल मिर्च विटामिन सी और बायोफ्लेवोनॉयड्स से समृद्ध होती है। यह ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाती है और नसों में आयी सूजन से आराम दिलाती है। इससे खून का थक्का नहीं जमता और अल्सर की समस्या से बचाव होता है।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Translate »
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x