शिवलिंग पर यहां चढ़ाया जाता है घी 1000 साल पुराना है मंदिर जाने ओर रहस्य

आपने अक्सर शंकर भगवान की शिवलिंग के ऊपर जल या दूध का अभिषेक होते हुए देखा होगा परंतु आपने ऐसा कोई मंदिर अभी तक नहीं देखा होगा जहां पर शंकर भगवान के शिवलिंग का अभिषेक ना ही जल के द्वारा किया जाता है.

और ना ही दूध के द्वारा यहां भगवान शिव शंकर के शिवलिंग का अभिषेक घी से किया जाता है यह मंदिर केरल के त्रिशूर जिले में स्थित है वहीं लोगों का कहना है कि यह मंदिर काफी प्राचीन है देव मंदिर लगभग 1000 साल पुराना है इस मंदिर का नाम वडकुनाथ है।

वहीं इस मंदिर में श्रद्धालुओं की इतनी भीड़ होती है कि रोजाना लगभग 1 टन से भी ज्यादा कि यहां पर भगवान के शिवलिंग पर घी चढ़ाया जाता है मंदिर परिसर में घी इतनी मात्रा में चढ़ाया जाता है कि शिवलिंग भी नजर नहीं आता है शिवलिंग के ऊपर घी की भरत बहुत मात्रा में चढ़ी रहती है जिसकी वजह से शिवलिंग नहीं दिखता है वहीं इस शिवलिंग पर घी गर्मी के 

मौसम में भी नहीं पिघलता गर्मी के मौसम में भी वैसा का वैसा ही जमा रहता है वहीं यह मंदिर प्राचीन होने की वजह से सावन एवं अन्य दिनों में भी यहां पर भक्तों की भीड़ काफी लगी रहती है वही केरल में स्थित इस मंदिर का शिवलिंग का स्वरूप कैलाश पर्वत को दर्शाता हुआ नजर आता है वही शिवलिंग पर चढ़ाए जाने वाले घी मैं से किसी भी प्रकार की दुर्गंध भी नहीं आती है.

वहीं केरल का यह मंदिर प्राचीन दीवारों से घिरा हुआ है जहां पर कई प्रकार की कलाकृतियां भी बनी हुई है वहीं इस मंदिर परिसर में हर साल आनापुरम नाम का एक महोत्सव का आयोजन किया जाता है जिसकी खासियत यह है कि इस महोत्सव के दौरान यहां पर हाथियों को खाना खिलाया जाता है इस महोत्सव की शुरुआत करने के लिए सबसे पहले छोटे हाथी को खाना खिलाया जाता है यह परंपरा भी कई सालों से चलती आ रही है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »