बिजली उपभोक्ताओं को मिली बड़ी राहत, 31 मई तक कोई भी …

बिजली उपभोक्ताओं को लॉकडाउन के दौरान विद्युत वितरण निगम ने बड़ी राहत दी है। अब उपभोक्ताओं के बिलों में कोई विसंगति ना हो इसके लिए बिल पिछले चार-माह के औसत उपयोग के आधार पर जारी किए जाएंगे। यह सुविधा शुरू कर दी गई है। जो उपभोक्ता मीटर की फोटो व्हाट्सएप पर भेज कर मीटर रीडिंग के अनुसार बिल संशोधित कराना चाहते हैं उन्हें प्राथमिकता दी जाएगी। निगम द्वारा 31 मई 20२0 तक कोई भी कनेक्शन नॉन पैमेंट के चलते नहीं काटा जाएगा।

इसके बाद बिल जमा करवाने पर विलम्ब शुल्क वसूला जाएगा। जो कनेक्शन लॉकडाउन से पूर्व से कटे है उन्हें उपभोक्ता पार्ट पैमेंट कर चालू करवा सकते हैं। बिलों का भौतिक वितरण संभव नहीं है इसलिए उपभोक्ताओं को बिल वितरण की जानकारी एसएमएस, व्हाट्सएप, ई-मेल आदि से दी जाएगी।

सभी औद्योगिक श्रेणियों के उपभोक्ताओं की यथासंभव मीटर रीडिंग कराकर प्रचलित टैरिफ के अनुसार बिल जारी किए जा रहे हैं। जहां मीटर रीडिंग लेना संभव नहीं है, वहां टीसीओएफ के अनुसार पिछले चार माह के औसत के आधार पर बिल जारी किए जाएंगे। उपभोग माह की लॉकडाउन की अवधि के अनुपात में स्थाई शुल्क की राशि 31 मई 2020 तक स्थगित कर दी है।

यह राशि बिल में अंकित तो होगी लेकिन देय राशि में शामिल नहीं की जाएगी। स्थाई शुल्क की शेष राशि देय राशि में शामिल की जाएगी। पेयजल योजनाओं, जनता जल योजनाओं व उनसे मुक्त अन्य औद्योगिक प्रतिष्ठानों के कनेक्शनों के बिलों में स्थाई शुल्क की राशि स्थगित नहीं की है।

राजकीय प्रतिष्ठानों व लॉकडाउन से मुक्त प्रतिष्ठानों को छोड़कर अन्य सभी अघरेलू कनेक्शनों की बिलिंग उक्त अनुसार की जाएगी। कृषि कनेक्शनों के अप्रैल माह के बिल यथासंभव मीटर रीडिंग के आधार पर अथवा मीटर रीडिंग ना हो पाने की स्थिति में फ्लैट रेट के आधार पर जारी किए जाएंगे। बिलों का भुगतान 31 मई 2020 तक स्थगित रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »