गर्मियों में ज्यादा सॉफ्ट ड्रिंक पीने से बढ़ सकता है मृत्यु का खतरा

लंबा और स्वस्थ जीवन जीने के लिए, लोगों को न केवल इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि उन्हें अपने आहार में क्या शामिल करना है, बल्कि यह भी देखना चाहिए कि किस आदत को छोड़ना उनके लिए लाभकारी हो सकता है। इस बात से लगभग सभी वाकिफ हैं कि चीनी या आर्टिफिशियल स्वीटनर का प्रयोग ज्यादा नहीं करना चाहिए। जबकि सोडा और सॉफ्ट ड्रिंक्स में इनका इस्तेमाल ज्यादा किया जाता है इसलिए इन्हें स्वस्थ आहार में शामिल नहीं किया जा सकता है।

जेएएमए इंटरनल मेडिसिन में प्रकाशित इस अध्ययन में बताया गया है कि जो लोग एक दिन में दो से अधिक चीनीयुक्त पेय पदार्थ का सेवन करते थे उनमें पाचन विकारों के कारण मृत्यु दर अधिक थी। हालांकि, हाल के कई अध्ययनों में इसी तरह के परिणाम सामने आए हैं, लेकिन इस अध्ययन के शोधकर्ताओं ने निष्कर्षों के आधार पर यह जानकारी दी है कि सॉफ्ट ड्रिंक्स का ज्यादा सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

इस अध्ययन के निष्कर्ष बताते हैं कि जो लोग अधिक चीनी का उपयोग करते हैं उनमें हृदय रोग, स्ट्रोक और कुछ प्रकार के कैंसर होने के जोखिम ज्यादा होते हैं। एक नई रिसर्च में आर्टिफिशियल स्वीटेंड बेवरेज का संबंध जठरांत्र संबंधी समस्याओं से पाया गया है और इससे पार्किंसंस रोग (शरीर के किसी अंग का बार-बार कांपना) के जोखिम में वृद्धि होती है।

लेकिन शोधकर्ताओं का कहना है कि “मीठे पेय पदार्थों से इन समस्याओं के होने की पुष्टि के लिए अभी और अध्ययन किए जाने की जरूरत है। इससे संबंधित कुछ और शोध किए जाने जरूरी हैं।” शोधकर्ता ने कहा, “अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगी।”

बता दें, इस शोध की शुरुआत में लोगों से उनके पेय पदार्थों के सेवन के बारे में पूछा गया था, जिसमें यह प्रश्न भी शामिल था कि वे हर महीने में एक या दो बार ड्रिंक पीते हैं या हर रोज।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »