गर्मियों में चक्कर आने पर करें ये घरेलू उपाय

चक्कर आना एक ऐसी चीज़ है जिसका अनुभव हर किसी को अपनी ज़िन्दगी में कभी न कभी ज़रूर होता है। इसमें सिर हल्का लगने लगता है, अस्थिरता या संतुलन बिगड़ने से आप गिर जाते हैं।

चक्कर आना कोई बिमारी नहीं है। ये कुछ स्वास्थ से जुडी स्थितियों का एक लक्षण है जैसे लो ब्लड प्रेशर, ह्रदय की मांसपेशियों की बिमारी न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर एनीमिया, एलर्जी, लो ब्लड शुगर, टिनिटस कान का संक्रमण, स्ट्रोक, आँख सम्बन्धहि विकार माइग्रेन, चिंता और सिर में चोट।

ये डीहाइड्रैशन, मोशन सिकनेस, तनाव, ज़्यादा व्यायाम, शरीर में हॉर्मोन्स के बदलने और किसी भी दवाई के नुकसान की वजह से ये समस्या हो सकती है।

कभी कभी चक्कर आने की वजह से कानों में झुनझुनाहट सी महसूस होने लगती है, सीने में दर्द, कमज़ोरी, मतली, उल्टी, पीलापन लगना या संतुलन खोने लगते हैं।

अगर आपको चक्कर कभी कभी आते हैं या उनके लक्षण महसूस होते हैं तो आप कुछ घरेलू उपायों का इस्तेमाल कर सकते हैं। हालाँकि अगर लक्षण बहुत जल्दी जल्दी आते हैं तो आप अपने डॉक्टर को ज़रूर दिखाएं।

तो आइये आपको बताते हैं चक्कर आने के कुछ घरेलू उपाय –

चक्कर आने पर ज़्यादा से ज़्यादा पानी पियें –
डीहाईड्रेशन चक्कर आने का सबसे आम कारण है। ये समस्या लम्बे समय तक पानी न पीने के कारण होती है या व्यायाम के बाद या दौरान पानी न पीने से होती है। डीहाईड्रेशन उलटी या डायरिया सकती है –

जब आपको चक्कर जैसा महसूस हो तो एक ग्लास पानी पीने की कोशिश करें। डीहाईड्रेशन और चक्कर को रोकने के लिए पूरे दिन में ज़्यादा से ज़्यादा पानी पियें।
इसके आलावा आप हर्बल टी में शहद मिलाकर पी सकते हैं, सूप या फलों के जूस का सेवन कर सकते हैं।

चक्कर आने को रोकने के लिए कुछ खाएं –
चक्कर आने की समस्या लो ब्लड शुगर लेवल की वजह से भी हो सकती है, खासकर शुगर के मरीज को। भूखा रहने से आपको चक्कर आने की संभावना बढ़ सकती है। तो जब भी चक्कर महसूस हो कुछ न कुछ खाने की कोशिश करें।

चक्कर आने पर क्या खाएं –

ऐसा स्नैक खाएं जो कार्बोहाईड्रेट या शुगर से समृद्ध हो जैसे चॉक्लेट या केला। जो भी फल पानी से भरपूर हो उसका सेवन भी ज़रूर करें।
दही से भरपूर फल भी एक अच्छा विकल्प है।
मुट्ठीभर नट्स जैसे काजू, बादाम या अखरोट भी चक्कर की परेशानी में अच्छे से काम करते हैं।

चक्कर आने पर करें अदरक का सेवन –
अदरक चक्कर या मतली के लिए एक बहुत ही अच्छा उपाय है। ये मस्तिष्क और शरीर के अन्य हिस्से तक रक्त परिसंचरण को उत्तेजित करता है जिससे चक्कर की समस्या दूर होती है।

अदरक का इस्तेमाल तीन तरीकों से करें –

पहला तरीका –

ताज़ा अदरक को छोटे छोटे टुकड़ों में काट लें और फिर उसे चबाएं। या चक्कर को कम करने के लिए अदरक की टॉफी खा लें।
दूसरा तरीका –

पूरे दिन में दो या तीन बार अदरक की चाय पियें जिससे चक्कर की समस्या को कम किया जा सके।
तीसरा तरीका –

इसके अलावा अदरक के सप्लीमेंट्स भी आप ले सकते हैं लेकिन लेने से पहले अपने डॉक्टर से बात ज़रूर करें।

चक्कर आने का घरेलु उपाय है नींबू का इस्तेमाल –
चक्कर के लिए प्रभावी उपाय है नींबू। इसमें विटामिन सी होता है जो प्रतिरोधक क्षमता को को सही रखता है और किसी भी बिमारी से लड़ता भी है। इसके साथ ही नींबू में मौजूद अन्य पोषक तत्व प्राकृतिक तरीके से ऊर्जा देने में मदद करते हैं। ये बहुत ही तेज़ी से आपके शरीर को हाइड्रेटिड रखता है जिससे आप ताज़ा महसूस करने लगते हैं।

नींबू का इस्तेमाल दो तरीकों से करें –

पहला तरीका –

सबसे पहले आधा नींबू को एक ग्लास पानी में निचोड़ लें। फिर इसमें दो चम्मच चीनी को मिलाएं।
फिर इस मिश्रण को पी जाएँ।
दूसरा तरीका –

इसके अलावा एक चम्मच नींबू के जूस में एक चुटकी काली मिर्च पाउडर और नमक डालें। अब इस मिश्रण को एक ग्लास पानी में मिलाकर पी जाएँ।
इस मिश्रण को पूरे दिन में तीन बार ज़रूर पियें।

चक्कर आने पर घरेलू उपाय है आंवला का उपयोग –
आंवला को आमला भी कहा जाता है जो कि चक्कर की समस्या के लिए एक बहुत ही पुराना उपाय है। आमला विटामिन ए और विटामिन सी से समृद्ध होता है जिसकी मदद से प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है, रक्त परिसंचरण सुधरता है और चक्कर की समस्या से भी बचाव होता है।

आंवला का इस्तेमाल कैसे करें –

सबसे पहले दो आंवला को बिना बीज के मिक्सर में मिक्स कर लें और इसका फिर एक पेस्ट तैयार कर लें।
अब इसमें दो चम्मच धनिये के बीज और एक कप पानी को मिलाएं।
रातभर के लिए इस मिश्रण को ऐसे ही रहने दें।
अगली सुबह इस मिश्रण को छान लें और फिर पानी को पी जाएँ।
इस प्रक्रिया को कुछ दिनों तक रोज़ाना दोहराएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »