पैरों में जलन होने पर करे ये घरेलू उपाय

पैरों में जलन होना बहुत ही आम समस्या है और किसी भी उम्र के लोगों को प्रभावित कर सकती है। यह जलन कभी कभी बहुत तीव्र हो सकती है। अकसर पैरों में जलन का अनुभव, तंत्रिका तंत्र में किसी तरह की कमी या रोग के कारण होता है। यह समस्या कभी-कभी शुगर, पुरानी शराब का अधिक उपयोग या कुछ विषैले पदार्थों के उपयोग के कारण होता है।

इसके अन्य कारणों में विटामिन बी, फोलिक एसिड, थाइमिन या कैल्शियम की कमी प्रमुख है। कीड़ों के काटने या डंक मारने से, क्रोनिक किडनी रोग (Chronic kidney disease) आदि से भी पैरों में जलन होती है।

पैरों में जलन होने पर, लालिमा, सूजन, अधिक पसीना आना, दर्द, त्वचा में पीलापन और शारीरिक तापमान अधिक होना आदि लक्षण प्रदर्शित हो सकते हैं।

पैर में जलन का इलाज उसके होने के कारण पर निर्भर करता है। इसे दवाओं की सहायता से भी नियंत्रित किया जा सकता है। असुविधा को कम करने के लिए आप कुछ घरेलू उपाय भी अपना सकते हैं या फिर डॉक्टर से उचित निदान और इलाज करवा कर समस्या से निजात पा सकते हैं।

पैरों में जलन के घरेलू उपाय –
पैरों की जलन दूर करने के लिए उपयोग करें ठंडा पानी –
ठंडा पानी पैरों की जलन दूर करने के सबसे अच्छे घरेलू उपचारों में से एक है। ठंडा पानी पैरों की सूजन, जलन और झनझनाहट से तुरंत राहत प्रदान करता है।

एक टब में ठंडा पानी भरें।
अपने पैरों को कुछ मिनट के लिए इसमें डुबोयें।
थोड़ी देर के लिए बाहर निकाल लें और फिर दोबारा डुबोयें।
यह प्रक्रिया दिन में कई बार दोहरायें।
ठंडे पानी में ज्यादा देर तक या बर्फ में पैरों को नहीं रखें क्योंकि इससे और अधिक समस्या हो सकती है।

पैरों की जलन दूर करने में सहायक है सेब का सिरका –
सेब का सिरका शरीर के पीएच स्तर को संतुलित करने में तो मदद करता ही है साथ ही इसका उपयोग पैरों की जलन दूर करने में भी किया जाता है।

एक से दो चम्मच, कच्चे और फ़िल्टर नहीं किए गए (unfiltered) सेब का सिरका गर्म पानी से भरे गिलास में मिलाएं। अच्छे परिणाम के लिए इसे रोज़ दिन में एक बार पियें।
वैकल्पिक रूप से, गर्म पानी से भरे टब में दो बड़े चम्मच सेब का सिरका, समुद्री नमक या सेंधा नमक मिलायें। इस मिश्रण में पैरों को लगभग 20 मिनट के लिए रोज़ भिगोयें। आप कुछ ही दिनों में अच्छा परिणाम महसूस करेंगे।

पैरों की जलन दूर करे हल्दी के गुण –
हल्दी में करक्यूमिन (Curcumin) नामक यौगिक अच्छी मात्रा में होता है, जिससे आपके शरीर में रक्त संचरण में मदद मिलती है। इसके अलावा, हल्दी में अनुत्तेजक (anti-inflammatory) गुण होते हैं जो पैरों में जलन और दर्द को कम करने में मदद करते हैं।

गर्म पानी के एक गिलास में एक से दो चम्मच हल्दी पाउडर मिलाकर पियें। बेहतर परिणामों के लिए यह प्रक्रिया नियमित रूप से दो बार करें।
आप दो बड़े चम्मच हल्दी में पानी मिलाकर पेस्ट भी तैयार कर सकते हैं और कुछ दिनों के लिए प्रति दिन एक या दो बार प्रभावित क्षेत्र पर इसे लगा सकते हैं।

सेंधा नमक दिलाये पैरों की जलन से छुटकारा –
सेंधा नमक आपके पैरों को जलन से तुरंत राहत दे सकता है। यह मैग्नीशियम सल्फेट से बना होता है जो सूजन और दर्द को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा, यह नसों को ठीक से काम करने में मदद करता है।

एक टब में आधा कप सेंधा नमक डालें।
अब टब में गर्म पानी डालें और अच्छी तरह मिलायें।
अपने पैरों को 10 से 15 मिनट के लिए इसमें भिगोयें।
कुछ दिनों के लिए प्रतिदिन एक बार इस उपाय का पालन करें।
नोट: यह विधि शुगर, हाई ब्लडप्रेशर या हृदय रोग से पीड़ित लोगों के लिए उपयुक्त नहीं है, इसलिए इस उपाय को करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श लें।

अदरक पहुंचाये पैरों की जलन में आराम –
अदरक आपके पैरों की जलन के लिए एक प्रभावी उपाय है। अदरक के गुण शरीर में रक्त परिसंचरण को बढ़ाते हैं, जिससे जलन में शीघ्र राहत मिलती है।

गर्म नारियल तेल या जैतून के तेल में एक चम्मच अदरक का रस मिलायें।
रोज़ इस मिश्रण से 10 से 15 मिनट पैरों की मालिश करें।
वैकल्पिक रूप से, आप रोज़ दो से तीन कप अदरक की गर्म चाय पी सकते हैं।
जब तक आपको समस्या से राहत नहीं मिलती इन उपचारों का पालन करें।

करेला करे पैरों की जलन दूर –
आयुर्वेद में, करेला पैरों में होने वाली जलन के उपाय के रूप में इस्तेमाल किया जाता है।

एक मुट्ठी भर करेले की पत्तियां पानी के साथ पीस कर पेस्ट बना लें।
इस पेस्ट को प्रभावित क्षेत्र पर लगायें आपको जल्द ही जलन से राहत मिलेगी।
आवश्यकतानुसार इस प्रक्रिया को दोहरा सकते हैं।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Translate »
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x