कमर दर्द होने पर करे ये घरेलू उपाय

कमर दर्द की समस्या बुज़ुर्ग और मध्य आयु वाले लोगो में ही देखी जाती थी लेकिन अब युवाओं में भी इसका असर दिखने लगा है। कमर में दर्द के कुछ लक्षण जैसे कमर या कूल्हों के आसपास दर्द, रीढ़ की हड्डी का लचीलापन खो देना और सोने में तकलीफ महसूस होना आदि देखने को मिलते हैं। पीठ में दर्द कई कारणों की वजह से हो सकता है जैसे मांसपेशियों में तनाव, अनुचित आहार, शारीरिक गतिविधियों की कमी, गठिया, अत्यधिक शारीरिक कार्य, सही ढंग से न बैठना और गर्भावस्था। पीठ में दर्द की समस्या की वजह से रोज़ाना के कार्यों को करना बेहद मुश्किल होता है। कुछ प्राकृतिक उपचार दर्द से बहुत जल्द राहत पहुंचाने में मदद कर सकते हैं।

कमर दर्द के घरेलू उपाय में करें अदरक का इस्तेमाल –
अदरक उल्टी के लिए तो उपयोग किया ही जाता है साथ ही कमर दर्द के लिए भी ये बेहद लाभदायक है। अदरक में सूजनरोधी गुण होते हैं जो आपको कमर के दर्द से राहत दिलाने में मदद करते हैं।

अदरक का इस्तेमाल तीन तरीकों से करें –

पहला तरीका –

सबसे पहले अदरक का पेस्ट तैयार कर लें फिर उसका पेस्ट प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएं।
उसे सूखने दें। सूखने के बाद उसे धोकर नीलगिरी का तेल लगा लें।
दूसरा तरीका –

4 से 6 ताजा अदरक को पतले टुकड़ों में काट लें और फिर उन्हें एक कप में डाल दें।
10 से 15 मिनट के लिए इसे गर्म होने के लिए रख दें।
उसके बाद मिश्रण को ठंडा होने के लिए रख दें।
ठंडा होने के बाद उसे छान लें और फिर शहद मिलाकर उसे पी लें।
आप अदरक की चाय को पूरे दिन में दो से तीन बार ज़रूर पियें या फिर तब तक जब तक आपकी स्थिति ठीक नहीं हो जाती।
तीसरा तरीका –

इसके आलावा आप हर्बल चाय भी बना सकते हैं।
सबसे पहले एक या आधा चम्मच काली मिर्च, एक या आधा चम्मच लौंग और एक चम्मच अदरक के पाउडर को एक साथ मिला दें।
फिर इन्हे कुछ देर उबलने दें।
उबलने के बाद इस मिश्रण को पी जाएँ।

कमर दर्द के उपाय में है तुलसी फायदेमंद –
तुलसी के पत्ते भी आपकी कमर के दर्द का इलाज बेहद अच्छे से करते हैं।

तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल कैसे करें –

8 से 10 तुलसी के पत्तों को एक कप पानी में डाल दें और जब तक पानी आधा न हो जाए तब तक उबलते रहने दें।
इसके बाद मिश्रण को ठंडा होने के लिए रख दें और फिर उसमे चुटकीभर नमक मिलाएं।
हल्के दर्द के लिए आप इस मिश्रण को पूरे दिन में एक बार ज़रूर पियें।
गंभीर दर्द के लिए आप इसे पूरे दिन में दो बार पिएँ।

खसखस के बीज का उपयोग करें पीठ दर्द के उपाय में –
खसखस के बीज पीठ दर्द के लिए बेहद गुणकारी होते हैं।

खसखस के बीज का इस्तेमाल कैसे करें –

एक कप खसखस के बीज और मिश्री को मिक्सर में मिक्स कर लें।
रोज़ाना इस मिश्रण को पूरे दिन में दो बार ज़रूर लें।
एक ग्लास दूध के साथ या उसके बाद भी ले सकते हैं।

कमर दर्द का घरेलू नुस्खा है जड़ी बूटी तेल –
अपनी पीठ को हर्बल तेल से मसाज करें। इससे आपकी मांसपेशियों को आराम मिलेगा और पीठ का दर्द भी दूर होगा। आप हर्बल तेल जैसे नीलगिरी, बादाम, जैतून या नारियल का इस्तेमाल कर सकते हैं। तेल को गर्म कर लें फिर उससे पीठ के दर्द वाले क्षेत्र पर धीरे धीरे मसाज करें।

पीठ दर्द के घरेलू उपाय के लिए लहसुन है लाभदायक –
लहसुन एक और घरेलू उपाय है जो पीठ के दर्द का इलाज करने में मदद करता है। रोज़ सुबह खाली पेट दो या तीन लहसुन की फांके खा लें। आप अपनी पीठ को लहसुन के तेल से भी मसाज कर सकते हैं।

लहसुन का इस्तेमाल कैसे करें –

लहसुन का तेल बनाने के लिए, नारियल तेल, सरसों तेल और तिल का तेल हल्की आंच पर गर्म कर लें और फिर उसमे 8 से 10 लहसुन की फांकों को मिला दें।
उसे तब तक भुनने दें जब तक लहसुन भूरा न हो जाये।
अब तेल को छान लें और गुनगुना होने के लिए रख दें।
अब इस तेल से पीठ पर हल्के हल्के मसाज करें।
कुछ देर के लिए इस तेल को ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें और फिर गर्म पानी से नहा लें।

कमर दर्द भगाने का घरेलू उपाय है गेहूं –
गेहूं में ऐसे कंपाउंड होते हैं जो एनाल्जेसिक प्रभाव पैदा करते हैं जिससे पीठ के दर्द को कम करने में मदद मिलती है।

गेहूं का इस्तेमाल कैसे करें –

मुट्ठीभर गेहूं को रातभर के लिए पानी में भिगोकर रख दें।
सुबह में रातभर भिगोये गेहूं को निकाल लें और उसमे फिर खसखस ग्रास पाउडर और धनिया मिला दें।
अब उसमे एक कप दूध मिलाएं और कुछ देर के लिए इस मिश्रण को उबलने के लिए रख दें।
तब तक जब तक ये मिश्रण गाढ़ा न हो जाये।
अब इस मिश्रण को पूरे दिन में दो बार ज़रूर पियें।

बर्फ है कमर दर्द से छुटकारा पाने का घरेलू उपाय –
कोल्ड कंप्रेस बर्फ का बनता है जो पीठ दर्द और सूजन को दूर करने में मदद करता है। अगर बर्फ आपके पास नहीं है तो आप ठंडी सब्ज़ियों का बैग भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

बर्फ का इस्तेमाल कैसे करें –

सबसे पहले बर्फ लें और उन्हें क्रश कर लें और फिर उन्हें एक प्लास्टिक बैग में डाल दें।
डालने के बाद बैग को किसी कपडे से लपेट दें।
फिर कोल्ड कंप्रेस को प्रभावित क्षेत्र पर 10 से 15 मिनट के लिए लगाकर रखें।
इस प्रक्रिया को पूरे दिन में कई बार करें।
आप कोल्ड कंप्रेस के अलावा होट कंप्रेस का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
कमर दर्द से छुटकारा पाने के उपाय के लिए सेंधा नमक है उपयोगी – Epsom salt good for back pain in Hindi
सेंधा नमक दर्द को कम करता है और सूजन से भी राहत दिलाने में मदद करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »