बिना दवाओं के पीलिया का घरेलू इलाज

रेड ब्लड सेल्स का विघटन लिवर में होता है और उसमे मौजूद हीमोग्लोबिन के टूटने से बिलिरुबिन बनता है। यह बिलिरुबिन लिवर से पित्त थैली में जाता है और फिर पित्त की नली से होता हुआ अंतड़ी में जाकर मल के साथ निकल जाता है। पीलिया तब होता है, जब मेटाबोलिज्म और मल के साथ कुछ गलत होने के कारण शरीर में बिलिरुबिन बनने लगता है। इसकी वजह से शरीर का पीला रंग हो जाता है

पीलिया के इलाज में कैसे सहायक है गन्ने का रस-गन्ने का रा पीने से सेहत को कई फायदे होते हैं। गन्ने के रस में विटामिन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस, पोटेशियम और कॉपर भरपूर होता है। इसके नियमित सेवन से पीलिया जैसी खतरनाक बीमारी को काबू करने में मदद मिल सकती है। अगर आप पीलिया रोग का घरेलू उपचार खोज रहे हैं तो गन्ने का रस आपके लिए बेहतर विकल्प है।गन्ने का रस पीलिया से उबरने में काफी मददगार होता है। पीलिया में पीड़ित व्यक्ति का लीवर ठीक तरह से काम नहीं करता है जिससे शरीर के द्रवों में बिलरुबिन की मात्रा बढ़ जाती है।

जिससे शरीर की त्वचा पीली हो जाती है।ऐसे में गन्ने का रस शरीर में प्रोटीन और दूसरे पोषक तत्वों की कमी को पूरा करता है जिससे मरीज को पीलिया से जल्दी उबरने में मदद मिलती है।गन्ना आपका बिलीरुबिन लेवल बनाए रखता है। इसलिए आयुर्वेद में इसका पीलिया के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है। अध्ययन के अनुसार, गन्ने का रस लीवर को डैमेज होने से बचाने में सहायक है। रोजाना एक गिलास रस पीने से पीलिया से पीड़ितों को लाभ होता है।

गन्ने का रस के अन्य फायदे

तुरंत ऊर्जा मिलती है

इसमें ग्लूकोज की अधिक मात्रा होती है। ग्लूकोज और अन्य इलेक्ट्रोलाइट्स इसे एक बेहतर एनर्जी ड्रिंक बनाते हैं। इससे आपको न केवल ऊर्जा मिलती है बल्कि तेज़ गर्मी से बचाकर शरीर को शांत रखने में भी मदद मिलती है।

एंटीऑक्सीडेंट्स का खजाना

अध्ययनों के अनुसार, इसमें मौजूद यौगिक न केवल फ्री रैडिकल्स को साफ़ करने बल्कि आयरन का उत्पादन कम करने भी सहायक हैं। इसके अलावा लिपिड परऑक्सीडेशन रोकने में सहायक हैं।

किडनी के लिए है बेहतर

प्रोटीन से भरपूर गन्ने का रस किडनी के बेहतर कामकाज में मदद करता है। नेचर में ऐल्कलाइन होने के अलावा ये एक अच्छा एंटीबायोटिक एजेंट है। इतना ही नहीं ये पेशाब के दौरान होने वाले दर्द और जलन को भी कम करता है।

डायबिटीज मरीजों के लिए बेहतर विकल्प

अगर आप ऐसा मानते हैं कि गन्ने का रस डायबिटीज मरीजों के लिए अच्छा नहीं होता है, तो आप गलत हैं। बेशक इसमें ग्लूकोज होता है लेकिन इसमें कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स भी होता है।

त्वचा पर लाता है चमक

अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड और ग्लाइकोलिक एसिड से भरपूर गन्ना स्किन के लिए अमृत के सामान है। इससे न केवल मुहांसे कम करने बल्कि दाग-धब्बे दूर करने, उम्र बढ़ने के प्रक्रिया धीमी करने और स्किन को हाइड्रेटेड रखने में मदद मिलती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »