इंसानों के बाद कोरोना वायरस फैला कुत्तों में, ऐसे करें अपना बचाव

हांगकांग के कृषि विभाग का कहना है कि कई कुत्तों की जांच के बाद पता चला है कि पालतू कुत्तो में कोरोना वायरस पाया गया है. हांलाकि यह वायरस कुत्तो में निचले स्तर पर ही है. लेकिन शायद यह पहला मामला है जिसमें वायरस इंसान से जानवरों में दाख़िल हुआ है.

दरअसल पमेरियन नस्ल के जिस कुत्ते में हाल ही में कोरोना वायरस मिला है, उसके मालिक Covid-19 से पीड़ित है. विश्व स्वास्थ संगठन इस मामले की जांच कर रहा है. जांच इस बात की की जा रही है कि क्या सचमुच में इस कुत्ते को कोरोना वायरस अपने मालिक से मिला है या फिर किसी और वजह से उसके शरीर में यह वायरस दाख़िल हुआ है.

कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने और उसका पता लगाने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दुनिया भर की प्रमुख प्रयोगशालाओं (लैबोटरी) का नेटवर्क तैयार किया है. इनमें दुनिया भर की 15 प्रयोगशालाएं शामिल हैं. इस सूची में भारत का नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वाइरोलॉजी भी शामिल है.

डब्लूएचओ का कहना है कि कोरोना वायरस का संक्रमण भी एक इंसान से दूसरे इंसान में फैल सकता है. इसे देखते हुए इस संगठन ने इसके संक्रमण से बचने के लिए कुछ सुझाव दिए हैं.

डब्लूएचओ का कहना है कि इससे संक्रमित लोगों के संपर्क में आने ले बचें. संगठन ने लोगों से बार-बार हाथ धोते रहने को कहा है, खासकर तब जब आप किसी बीमार से मिलकर आ रहे हैं.

जंगली और पालतू जानवरों से बिना किसी सुरक्षा कवच के संपर्क में आने से बचें.

सीने में संक्रमण के शिकार लोगों को लोगों से दूरी बनाकर रखनी चाहिए, छींक और खांसी के समय अपने मुंह को ढंककर रखें और हाथ को धोते रहें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »