CM योगी ने बाल श्रमिकों को दिया विद्या का तोहफा, शिक्षित करने के साथ आर्थिक सहयोग देगी सरकार

उत्तर प्रदेश सरकार ने अंतरराष्ट्रीय बाल श्रम निषेध दिवस पर शुक्रवार को बाल श्रमिक विद्या योजना की शुरुआत की है। इसके तहत पहले चरण में 2000 बच्चों को शिक्षित किया जाएंगा।

साथ ही श्रम विभाग अब उनकी शिक्षा का पूरा खर्च उठाने के साथ उन्हें बाल श्रम से मुक्त कराएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बताया कि, 8 से 18 वर्षों तक के सभी बच्चों को शिक्षा पाने के लिए स्कूल में होना चाहिए।

लेकिन पारिवारिक परिस्थितियों के कारण अपने परिवार के भरण-पोषण के लिए उन्हें बाल श्रम करना पड़ता है। ऐसे बच्चों के लिए आज एक नई योजना ‘बाल श्रमिक विद्या योजना’ उत्तर प्रदेश में शुरु की जा रही है।

योजना में कक्षा 8, 9 और 10वीं कक्षा में पढ़ने वाले बच्चों को प्रति वर्ष 6000 रुपए की अतिरिक्त सहायता देने का प्रावधान भी दिया गया है। इस योजना में पहले चरण में जिन ५७ जनपदों में सर्वाधिक बाल श्रम से जुड़े हुए कामकाजी बच्चे अब तक रिकॉर्ड किए गए हैं, वहां पर 2000 बच्चों का चयन करते हुए बालकों को 1000 रुपए प्रति माह और बालिकाओं को 1200 रुपए प्रति माह देने की व्यवस्था के साथ ये योजना लागू की जा रही है।

दोस्तों यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर लाइक करना ना भूलें और अगर आप हमारे चैनल पर नए हैं तो आप हमारे चैनल को फॉलो कर सकते हैं ताकि ऐसी खबरें आप रोजाना पा सके धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *