कपड़े के डायपर पहनने से बच्चे को होते है ये फायदे

पड़े के डायपर इको-फ्रेंडली और किसी भी प्रकार के केमिकल से मुक्त होते हैं, जिससे बच्चों को त्वचा में जलन, चकत्ते और एलर्जी की संभावना नहीं रहती है।

कपड़े के डायपर पर्यावरण के लिए भी बेहतर होते हैं। आमतौर पर एक शिशु अपने जीवनकाल में करीब 5000 डिस्पोजल डायपर का यूज कर लेता है। डिस्पोजल डायपर को अपघटित होने 500 से ज्यादा वर्ष भी लग सकते हैं। वहीं, कपड़े के डायपर के साथ ऐसी कोई भी समस्या नहीं रहती है। कपड़े के डायपर का यूज तब तक किया जा सकता है जब तक वो फट नहीं जाते है या फिर खराब नहीं हो जाते हैं।

कपड़े के डायपर का इस्तेमाल बच्चे की स्किन के लिए बहुत ही सुविधाजनक होता है। बच्चे की स्किन में रैशेज होने की संभावना न के बराबर रहती है।

कपड़े के डायपर में बच्चों का पॉटी करने के बाद गीलापन महसूस होता है। ऐसा होने से बच्चे पॉटी करने के बाद तुरंत बता देंगे। जबकि डिस्पोजल डायपर में पॉटी करने के बाद बच्चों को गीलापन महसूस नहीं होता है, और वो पॉटी करने के बाद भी नहीं बताते हैं। कई घंटो तक पॉटी स्किन में लगी रहती है। इस कारण से स्किन प्रॉब्लम हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »