चार्ल्स शोभराज – जो कपड़े उतारकर जिंदा जला देता था।

चार्ल्स शोभराज जुर्म की दुनिया का एक ऐसा नाम था, जिसके खून करने के तरीके से सब हैरान थे। चार्ल्स शोभराज का जन्म 6 अप्रैल 1944 को वियतनाम में हुआ था। चार्ल्स शोभराज बचपन से ही दिमाग से बहुत तेज था। पहली बार 19 साल की उम्र में चार्ल्स को पेरिस में जेल हुई थी और यही से उसने जुर्म की दुनिया मे कदम रखा। यहा पर रहते हुए उसने जेल के जो सेक्युरिटी गॉर्ड थे उनको गुमराह करना सीखा और वह जेल में घंटो फिलोसोफी, लॉ, हिस्ट्री और साइकोलॉजी की किताबें पढ़ते रहता था। चार्ल्स को इंसानी दिमाग को पढ़ना बहुत अच्छी तरह से आता था और इसी वजह से उसने बहुत से लोगो को ठगा था।

चार्ल्स बहुत ही हैंडसम और दिखने में किसी हीरो से कम नही था। अपने लुक की वजह से उसने कई सारी लड़कियों को अपने प्यार के जाल में फंसाया था। चार्ल्स विदेशी यात्रियों का दिमाग पढ़ कर उन्हें नशा दे देता और उनके पैसे, पासपोर्ट लेकर गायब हो जाता था। चार्ल्स की 2 असिस्टेंट भी उसके जुर्म में मदद करती थी और इन तीनो ने मिलकर लगभग 12 हत्याए की थी। इसके अलावा वह लड़कियों को नशा देकर बेहोश कर देता और उनके कपड़े उतारकर जिंदा जला देता था। चार्ल्स ने कुल 6 लड़कियों को जिंदा जलाया था। 1975 में चार्ल्स ने एक अमेरिकी लड़की को ड्रग्स देकर मार दिया था। इस हत्या के लिए थाईलैंड की अदालत ने चार्ल्स को मौत की सजा दी थी। लेकिन चार्ल्स को जेल से भागने में भी काफी अनुभव था। अपने इसी अनुभव का फायदा उठाकर वह थाईलैंड की जेल से भाग गया और भारत आ गया। भारत में उसने फ्रेंच स्टूडेंट्स को ड्रग्स दी थी इस वजह से उसे तिहाड़ जेल में 12 साल की सजा हुई थी। तिहाड़ जेल में उसकी मांग के अनुसार उसे हर एक चीज दी जाती थी। तिहाड़ जेल में रहते हुए उसने मीडिया को बहुत सारे इंटरव्यू दिए, लेकिन वह मीडिया से हर एक इंटरव्यू का पैसा लेता था।

चार्ल्स की 12 साल की सजा पूरी होने में अभी कुछ महीने ही बचे थे तो उसने अपने बर्थडे का प्लान बनाया और बर्थडे के दिन उसने मिठाई में बेहोशी की दवा मिला दी। बेहोशी वाली मिठाई खाकर सारे पुलिस वाले बेहोश हो गए थे। जिसके बाद चार्ल्स तिहाड़ जेल से भी भाग गया था। भागकर वह थाईलैंड गया लेकिन उसकी मौत की सजा थाईलैंड में भी बाकी थी जिसके बाद उसने भारत आकर सरेंडर कर दिया था। भारत मे उसकी सजा को और भी बढ़ा दिया गया था। 2003 में चार्ल्स को 2 विदेशी यात्रियों की हत्या के जुर्म नेपाल की कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई थी। जिसके बाद जेल में रहकर ही चार्ल्स ने 70 साल की उम्र में 19 साल की एक लड़की से शादी की थी। वह इस समय नेपाल की जेल में कड़ी निगरानी में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »