ब्रेस्टफीडिंग की जानकारी पिता के लिए होती है बहुत जरूरी

बहुत से पुरूष जो अभी-अभी पिता बने हैं, उनके मन में यह सवाल जरूर आएगा कि वह शिशु को स्तनपान नहीं करा सकते, ऐसे में वह शिशु के साथ बेहतर संबंध कैसे बनाएं। ऐसे में पिता को ब्रेस्टफीडिंग व उसके पीछे के अहसास को समझना होगा। जब एक महिला शिशु को स्तनपान कराती है तो वह शिशु के साथ कुछ बेहतरीन सुकूनभरे पल बिताती है।

साथ ही उनका स्किन कॉन्टैक्ट उनके आपसी रिश्ते को मजबूत बनाता है। ऐसा ही कुछ आप भी कर सकते हैं। इसके लिए आप बच्चे को कुछ वक्त के लिए अपने सीने पर लिटाएं। कोशिश करें कि उस वक्त आपने उपर कुछ न पहना हो। इससे आपको भी फील-गुड ऑक्सीटोसिन बढ़ेगा जो आपकी पत्नी को स्तनपान के दौरान मिलता है।

इसके अतिरिक्त जिस तरह एक मां बच्चे के साथ आई कॉन्टैक्ट बनाती है, आप भी वैसा ही करें। आप बच्चे के करीब लेटें और उससे अपनी बातें करें। भले ही उस वक्त बच्चा आपकी बातें नहीं समझ पाएगा, लेकिन उसे आपकी आवाज अच्छी लगेगी क्योंकि वह गर्भ से ही उस आवाज को पहचानता है।

अगर आप बच्चे के साथ उसी रिश्ते को कायम करना चाहते हैं, जैसा मां अपने बच्चे के साथ करती है तो आप शिशु को स्तनपान के बाद कुछ एक्टिविटीज में शामिल हो सकते हैं। जब बच्चे का पेट भरा होगा तो आपके लिए उसे संभालना भी आसान होगा। ऐसे में आप ब्रेस्टफीडिंग के बाद कुछ देर के लिए उसके साथ खेलें या फिर आप उसे टहलने के लिए ले जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »